|

Chandrayan-2: फिर खड़ा होगा विक्रम, ISRO ने कहा- चांद पर सलामत है लैंडर।

समाचार संयोजक‚ प्रांजल पांडेए‚ बेंगलुरुः भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन के 978 करोड़ रुपये लागत वाले चंद्रयान-2 मिशन में अभी बहुत कुछ बाकी है। सोमवार को इसरो ने बड़ी खुशखबरी दी। इसरो ने बताया कि चांद की सतह पर हार्ड लैंडिंग के बाद चंद्रयान-2 के लैंडर 'विक्रम' को कोई नुकसान नहीं पहुंचा है। इसमें कोई भी टूट-फूट नहीं हुई है। इसरो लैंडर के साथ फिर से संपर्क स्थापित करने की हर संभव कोशिश कर रहा है। उम्मीद है कि इसरो जल्द ही विक्रम से संपर्क स्थापित करने में कामयाब होगा। इसरो ने रविवार को जानकारी दी कि 'विक्रम' की लोकेशन पता चल गई है। इसके साथ ही इसरो का काउंटडाउन शुरू हो गया। वैज्ञानिकों ने आशंका जताई थी कि चांद से टकराने के बाद विक्रम को नुकसान पहुंचा है। लेकिन, सोमवार को इसरो को कुछ राहत मिली। अब इसरो के पास लैंडर विक्रम से संपर्क साधने के लिए 12 दिन बचे हैं, वरना 'मिशन चंद्र' पूरा होने की उम्मीदें खत्म हो सकती हैं। दरअसल, चांद पर अभी लूनर डे चल रहा है। एक लूनर डे धरती के 14 दिनों का होता है। इसमें से 2 दिन चले गए हैं। मतलब यह है कि आने वाले 12 दिन चांद पर दिन रहेगा। उसके बाद चांद पर रात हो जाएगी। रात में विक्रम से संपर्क साधने में परेशानी होगी और इसरो का इंतजार लंबा हो जाएगा। इसरो में 'मिशन चंद्र' से जुड़े एक सीनियर साइंटिस्ट के मुताबिक, 'जैसे-जैसे समय बीतता जाएगा, लैंडर विक्रम से संपर्क स्थापित करना और भी मुश्किल होता जाएगा। अगर जल्द से जल्द विक्रम से संपर्क स्थापित कर लिया गया, तो इसमें अभी भी एनर्जी जनरेट की जा सकती है। क्योंकि, इसमें सोलर पैनल लगे हैं। अगर सूरज की रोशनी विक्रम पर पड़ रही होगी, तो इसके सोलर पैनल के जरिए बैटरी रिचार्ज हो जाएगी। लेकिन, ये सब जितनी जल्दी हो सके करना होगा। नहीं हो दिक्कतें और बढ़ सकती हैं।

चांद से 2.1 किलोमीटर दूरी पर खो गया था विक्रम
इसके पहले इसरो के चेयरमैन के. सिवान ने बताया था कि शुक्रवार देर रात चांद से महज 2 किलोमीटर की दूरी पर आकर लैंडर विक्रम खो गया था। चांद की सतह की ओर बढ़ा लैंडर विक्रम का चांद की सतह से 2.1 किलोमीटर पहले संपर्क टूट गया था। इससे ठीक पहले सबकुछ ठीकठाक चल रहा था, लेकिन इस अनहोनी से इसरो के कंट्रोल रूम में अचानक सन्नाटा पसर गया।

Posted by रवि चौहान on 2:29 pm. Filed under , , , , , . You can follow any responses to this entry through the RSS 2.0. Feel free to leave a response

0 टिप्पणियाँ for "Chandrayan-2: फिर खड़ा होगा विक्रम, ISRO ने कहा- चांद पर सलामत है लैंडर।"

Leave a reply

सर्वाधिक पढ़ी गयी

Recently Added

Recently Commented