|

40 फ्लैटों मे चोरी की घटना करने वाले गिरोह का पुलिस ने किया पर्दाफाश, दो अभियुक्त गिरफ्तार।

संवाददाता‚ सोनू शर्मा‚ नोयडाः थाना सैक्टर 48 पुलिस और स्टार 1 की संयुक्त ने गुरुवार को  मुखबिर की सूचना पर सैक्टर 51 नोएडा मैट्रो स्टेशन के पास से दो अभियुक्तों कपिल जाटव पुत्र भरतवीर निवासी खालिदपुर थाना मवाना जनपद मेरठ, साजिद पुत्र साबिर निवासी मौहल्ला हीरालाल कस्बा व थाना मवाना जनपद मेरठ को गिरफ्तार कर लिया। पकड़े गए अभियुक्तों के कब्जे से पुलिस ने तीन चैन पीली धातु,एक चैन मय लाॅकेट पीली धातु,नौ अॅगूठी पीली धातु,चार जोडी टाॅपस कान के पीली धातु, 41,500 रूपये नगद, एक तंमचा तीन सौ पन्द्रह बोर मय दो कारतूस जिन्दा, एक सैंट्रो कार नंबर डीएल 4 सीएजी 1888 और 5 जोडी पैन्ट शर्ट बरामद की है। अभियुक्तों के द्वारा पुलिस पूछताछ मे नोएडा में विगत 6 माह में दिन के समय सैक्टरों एवं फ्लैटों में ताला तोड़कर चोरी की करीब 40 अधिक घटनाओं का किया जाना स्वीकार किया है। अभियुक्त कपिल जाटव ने पूछताछ पर बताया कि हमारा चार व्यक्तियों ( साजिद पुत्र साबिर, बिलाल पुत्र मौहम्मद इस्लाम एवं सलीम मस्ताना) का एक संगठित गैंग हैं। गिरोह का लीडर बिलाल है। बिलाल और कपिल दिसम्बर 2018 में हरिद्वार जेल से जमानत पर रिहा हुए है। पिछले 6 माह से हम चारों लोग नियमित रूप से नोएडा आकर फलैटों में चोरी की घटना कारित कर रहे हैं। हमने सारी घटनाऐं दिन में ही की हैं। हम लोग सैट्रों कार नंबर डीएल 4 सीएजी 1888 से मवाना से निकलते थे। रास्ते में गाजियाबाद के आस पास सलीम मस्ताना मिलता था। फिर हम सभी अपने अपने मोबाइल बन्द कर देते थे। सारी घटनाऐं मैने और बिलाल ने की थीं। साजिद और सलीम गाड़ी के आस पास रहते थे तथा सोसायटी में आने जाने वाले लोगों पर नजर रखते थे। घटना मौके पर रैकी करके तुरन्त करते थे। पहले से कोई योजना नहीं होती थी। जिन फ्लेटों में ताले लगे होते थे उनका ताला तोड़कर चोरी कर लेते थे। 20-25 मिनट में हम लोग पूरी घटना करके निकल जाते थे। हम लोग केवल आभूषण, कैश व छोटे सामान जैसे घडी, कैमरा आदि ही ले जाते थे क्योंकि इन्हें आसानी से बैग में रखकर निकल जाते थे। हम पहली बार फरवरी में आये थे। मार्च में हम 4-5 बार आये थे। मार्च में हमनें सैक्टर-50, 53 आदि में चोरी की थी। अप्रैल में हम हर दूसरे दिन आये थे। इस दौरान हमने सैक्टर-34, सैक्टर 110, सैक्टर 50,53,75, 51,76 आदि सैक्टरों में चोरी की घटनाऐं कारित की थीं। माह मई में हम 7-8 बार आये थे। इस दौरान भी हमने नोएडा के सैक्टर-61, 50, 34, आदि में चोरी की घटनाऐं की थीं। माह जून में 1-2 बार ही आये थें। माह जुलाई में हमने सैक्टर 62 पुलिस चौकी के पास स्टेलर सोसायटी में चोरी की थी। इसके दो दिन बाद एक ही दिन में हमने बीपीसीएल सोसायटी सैक्टर 56, सैक्टर-35 में सिटी व्यू अपार्टमैन्ट, सैक्टर -41 सोसायटी में चोरी की घटनाऐं की थी। इसके बाद मैं कांवड लेने चला गया था। 5 अगस्त को हम नोएडा आये थे। उस दिन हमने सैक्टर-82, सैक्टर-37 में चोरी की घटनाऐं की थीं। 9 अगस्त को हम लोग फिर आये थे। उस दिन हमने सैक्टर-53 कंचन जंगा सोसायटी में पहले चोरी की थी। फिर उसी दिन हम सैक्टर-50 में भी चोरी की घटना कारित की गयी थी। हम हर महीने चोरी के आभूषण मवाना मेरठ के पवन पुत्र मामचन्द निवासी मौहल्ला हीरालाल कस्बा व थाना मवाना जनपद मेरठ सुनार को देते थे जो तुरन्त आभूषणों को गला देता था तथा मौजूद सोने के आधार पर हमें भुगतान कर देता था।माल देने बिलाल ही जाता है। मई में उसे सामान दिया गया था जिसके पैसे हम लोगों ने आपस में बाॅट लिए थे। इसके बाद मैं ओर बिलाल 9 अगस्त की रात गये थे। उस दिन हमने उसे जुलाई और अगस्त में चोरी किए आभूषण दिये थे। हम लोगों को लगभग 4 लाख रूपये मिले थे। जिसमें मेरे हिस्से में 75 हजार रूपये आये थे। कुछ खर्च हो गये हैं। 40 हजार मैने अपनी बुआ मोनी को बुलट मोटरसाइकिल की किस्त का भुगतान करने को दिये थें। कुछ पैसे आपने मेरे तलाशी में बरामद किये हैं। कुछ पैसे घर पर पडे होगें। बुलट मोटरसाइकिल मैने लगभग  4-5 माह पूर्व अपनी बुआ मोनी के नाम से बुक कराया था। किस्त का भुगतान मैं चोरी के पैसों से ही कर रहा हॅू। चोरी के पैसो से ही मैने अपनी बहन की शादी के लिए ज्वैलरी खरीदी थी। सैट्रों कार नंबर डीएल 4 सीएजी 1888  मैने और साजिद ने साझे में खरीदी हैं। उसका भी भुगतान हमने चोरी में मिलने वाले हिस्से से किया है। इसी सैट्रों कार नंबर डीएल 4 सीएजी 1888 से ही हम चोरी करने आते थे। आपको गाडी मिली पैन्ट शर्ट भी हमने चोरी की है। इन पैन्ट शर्टो को पहनकर सोसायटी में जाने पर सिक्योरटी गार्ड सामान्यतः शक नहीं करते हैं और हमें चोरी करने में आसानी हो जाती है।पकड़े गए अभियुक्तों विरूद्ध पुलिस ने आवश्यक वैधानिक कार्यवाही कर जेल भेज दिया है। 

Posted by रवि चौहान on 6:50 pm. Filed under , . You can follow any responses to this entry through the RSS 2.0. Feel free to leave a response

0 टिप्पणियाँ for "40 फ्लैटों मे चोरी की घटना करने वाले गिरोह का पुलिस ने किया पर्दाफाश, दो अभियुक्त गिरफ्तार।"

Leave a reply

सर्वाधिक पढ़ी गयी

Recently Added

Recently Commented