|

जिलाधिकारी ने पानी का दुरुपयोग करने वाले संस्थानों एवं अनाधिकृत रूप से ग्राउंड वाटर निकालने वालों के विरुद्ध दिए कार्यवाही के निर्देश

संवाददाता‚ सोनू शर्मा‚ ग्रेटर नोएडाः गौतमबुद्दनगर जनपद मे गिरते भूजल स्तर को बचाने के उद्देश्य से सरकार द्वारा संचालित किए जा रहे प्रधानमंत्री जल शक्ति अभियान को पूरे जनपद गौतमबुद्धनगर में मूर्त रूप प्रदान करने के उद्देश्य से मंगलवार को जिलाधिकारी बी एन सिंह की अध्यक्षता में कलेक्ट्रेट के सभागार में एक वृहद स्तर की गोष्ठी का आयोजन किया गया। जिसमें विभागीय अधिकारियों के साथ-साथ स्वयंसेवी संस्थाओं के प्रतिनिधियों के द्वारा भी प्रतिभाग किया गया। जिलाधिकारी बी एन सिंह ने इस अवसर पर सभी अधिकारियों एवं स्वैच्छिक संस्थाओं के प्रतिनिधियों का आह्वान करते हुए कहा कि गिरते हुए भूजल स्तर की समस्या विकट होने के उपरांत सरकार के द्वारा प्रधानमंत्री जल शक्ति अभियान संचालित किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि यह कार्यक्रम समाज के लिए बहुत ही महत्वपूर्ण है। अतः सभी नागरिकों को इस महत्वपूर्ण कार्यक्रम से जुड़ना होगा ताकि भूजल स्तर को बचाया जा सके और आने वाली पीढ़ी को मानकों के अनुसार शुद्ध पेयजल उपलब्ध हो सके। इस संबंध में जिलाधिकारी बी एन सिंह ने कहा कि जनपद में ऐसे कार सर्विस सेंटर जहां पर पानी का अत्यधिक दोहन किया जा रहा है और अनाधिकृत रूप से यह कार्य संस्थानों के द्वारा सुनिश्चित किया जा रहा है और रेन वाटर हार्वेस्टिंग कि उनके यहां कोई व्यवस्था नहीं है ऐसे सभी सर्विस सेंटर को चिन्हित करने के जिलाधिकारी ने निर्देश दिए हैं ताकि उनके विरूद्ध कठोर कार्यवाही प्रस्तावित की जा सके। इसी प्रकार अन्य स्थानों पर जहां पर भी जल का अत्यधिक दोहन किया जा रहा है ऐसे संस्थानों को भी चिन्हित करने के लिए निर्देशित किया गया है ताकि भूजल स्तर को बचाया जा सके। इस अवसर पर उन्होंने ग्रामीण विकास के अधिकारियों को तालाबों के जीर्णोद्धार एवं उनके सुंदरीकरण का कार्य सर्वोच्च प्राथमिकता के आधार पर करने के लिए निर्देशित किया है। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री जल शक्ति अभियान के अंतर्गत विभागीय अधिकारियों के द्वारा जो रेन वाटर हार्वेस्टिंग एवं व्यवस्था सुनिश्चित की जानी है उन पर तत्काल प्रभाव से कार्रवाई सुनिश्चित करते हुए कार्य आरंभ कर दिया जाए ताकि सरकार की मंशा के अनुरूप इस महत्वपूर्ण योजनाओं को जनपद में मूर्त रूप प्रदान किया जा सके। जिलाधिकारी ने इस अवसर पर अपने उद्गार व्यक्त करते हुए यह भी स्पष्ट किया कि पानी के दुरुपयोग को रोकने में जन सामान्य की भी अहम भूमिका है इसके लिए सभी स्कूलों में व्यापक स्तर पर जागरूकता कार्यक्रम संचालित करते हुए घर घर यह संदेश पहुंचाने की कार्यवाही की जाए। उन्होंने कहा कि भूजल स्तर को बढ़ाने में वृक्षारोपण की भी अहम भूमिका है। अतः सरकार के द्वारा इस वर्ष वृक्षारोपण के कार्यक्रम को वन महोत्सव के रूप में लिया जा रहा है। अतः सभी अधिकारियों द्वारा अपने अपने लक्ष्य को पूर्ण करने के लिए निरंतर रूप से कार्रवाई सुनिश्चित की जाए और आगामी 9 अगस्त को वृहद स्तर पर पौधारोपण का कार्य संपादित कराया जाए ताकि सरकार एवं शासन की मंशा के अनुरूप जनपद में पौधारोपण किया जा सके। जिलाधिकारी ने जिला पंचायत राज अधिकारी को भी निर्देश देते हुए कहा कि उनके द्वारा एलईडी वेन के माध्यम से ग्रामीण क्षेत्रों में प्रचार प्रसार किया जा रहा है इस कार्यक्रम को और मजबूती के साथ संचालित किया जाए ताकि सभी ग्रामीण सरकार की इस महत्वपूर्ण योजना से जुड़कर अपने अपने स्तर पर कार्रवाई सुनिश्चित कर सकें। उन्होंने कहा कि कृषि विभाग के द्वारा किसानों को अधिकतर मेड बंदी के लिए प्रोत्साहित किया जाए ताकि गांव का पानी गांव में और खेत का पानी खेत में नारे को मूर्त रूप प्रदान करते हुए भूजल स्तर को बढ़ाया जा सके। इस महत्वपूर्ण गोष्ठी में भूगर्भ विभाग के अधिकारियों द्वारा भूजल को बढ़ाने के लिए इस संबंध में तकनीकी जानकारी विस्तार रूप से सभी को उपलब्ध कराई गई ताकि सभी उपस्थित गणमान्य व्यक्ति अपने अपने क्षेत्र में भूजल बढ़ाने की कार्यवाही सुनिश्चित कर सकें। महत्वपूर्ण गोष्ठी का सफल संचालन मुख्य विकास अधिकारी अनिल कुमार सिंह के द्वारा किया गया उन्होंने बताया कि ग्रामीण विकास के द्वारा वर्तमान में तालाबों के जीर्णोद्धार के लिए बड़े स्तर पर कार्रवाई सुनिश्चित की जा रही है। आयोजित महत्वपूर्ण गोष्ठी में डीएफओ पीके श्रीवास्तव, जिला विकास अधिकारी अनवर शेक, जिला कार्यक्रम अधिकारी डीके सिंह, जिला पूर्ति अधिकारी राज नारायण यादव,जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी बालमुकुंद प्रसाद तथा अन्य अधिकारीगण एवं संबंधित विभाग के अधिकारियों के अलावा स्वैच्छिक संस्थाओं के प्रतिनिधियों द्वारा भी प्रतिभाग किया गया।

Posted by रवि चौहान on 4:24 pm. Filed under , . You can follow any responses to this entry through the RSS 2.0. Feel free to leave a response

0 टिप्पणियाँ for "जिलाधिकारी ने पानी का दुरुपयोग करने वाले संस्थानों एवं अनाधिकृत रूप से ग्राउंड वाटर निकालने वालों के विरुद्ध दिए कार्यवाही के निर्देश"

Leave a reply

सर्वाधिक पढ़ी गयी

Recently Added

Recently Commented