|

बहनोई ने जालसाजी कर हड़प लिया घर वर्षो से ठोकरे खाते फिर रही हैं बेबस महिला।

रवि चौहान की रिपोर्ट।   दिल्ली। ससुराली संपत्ती हड़पने के लिए एक युवक ने फिल्मी स्टाईल में घटना को अंजाम दिया। मामला दिल्ली की पाॅश काॅलोनी यमुना विहार का है। यहां पर अनु शर्मा अपनी मां और छोटी बहन के साथ 40 वर्गमीटर में बने घर में रहती थी। घर की सारी जिम्मेदारी अनु शर्मा के कंधो पर थी क्योकि अनु शर्मा के पिता की मौत हो चुकी थी। अनु शर्मा की शादी हुई लेकिन बहुत जल्द ही उसका तलाक हो गया। छोटी बहन रेनू शर्मा की शादी की जिम्मेदारी भी अनु शर्मा पर थी। जिसके चलते वर्ष 2002 में अनु शर्मा ने मोदीनगर के गांव सारा निवासी प्रमोद वत्स के साथ बहन रेनू शर्मा की शादी कर दी।
प्रमोद का गांव में गुड़ का कारोबार था लेकिन बावजूद उसके वह दहेज के लिए रेनू शर्मा के साथ अकसर मारपीट करता था। जिसके चलते रेनू डिपरेशन में आ गई और बिमार रहने लगी। वर्ष  2006 में अनु शर्मा की मां की मौत हो गयी। मां की मौत के तीन साल बाद 2009 बहन रेनू की भी संदिग्ध मौत हो गई। अनु शर्मा के अनुसार मां और बहन की मौत के बाद प्रमोद उसे भी रास्ते हटाकर घर पर कब्जा करने की नीयत रखने लगा।  दो साल बात वर्ष 2011 में एक दिन उसने शाजिश के तहत अनु शर्मा का ऐक्सीडेंट करा दिया। अनु को काफी चोंटे आयी। जिसके चलते वह मानसिक तौर पर परेशान रहने लगी तो प्रमोद ने उसे पागल करार देते हुए जबरजस्ती आगरा पागलखाने भेज दिया।। अपना काई न होने के कारण अनु शर्मा ठीक होने के बावजूद भी डेढ साल तक पागल खाने में रही। डेढ साल बात एक दूर की रिश्तेदार उसको लेकर वापस आयी। आरोप है कि अनु शर्मा जब अपने घर वापस लौटी तो पता चला प्रमोद ने जालसाजी करते घर के उपरी भाग में 3 मंजिला निमार्ण कराकर उसको करोड़ो मंे बेच डाला। बाकी एक फ्लोर वह खुद रह रहा था। उसमें भी उसने अनु शर्मा को घुसने तक नही दिया। मामलें में अनु शर्मा ने भजनपुर थाने में शिकायत दर्ज करानी चाही लेकिन पुलिस ने सिविल का मामला बताकर उसको टरका दिया। कई साल भटकने के बाद अनु शर्मा ने कोर्ट की शरण ली। कोर्ट के आदेश पर प्रमोद के खिलाफ 420 का मामला अक्टूबर 2018 में दर्ज किया गया लेकिन अब पुलिस कोर्ट के ओदश को भी दबा कर बैठ गई और मुकदमें के 9 माह बाद भी तक प्रमोद को गिरफ्तार नही किया। बेबस अनु शर्मा खुद का घर होते हुए बरसो से दर दर की ठोकरे खाती फिर रही है।  मामले में पुलिस के आला अधिकारी भी मौन बने हुए है।

Posted by रवि चौहान on 7:50 pm. Filed under , , , . You can follow any responses to this entry through the RSS 2.0. Feel free to leave a response

0 टिप्पणियाँ for "बहनोई ने जालसाजी कर हड़प लिया घर वर्षो से ठोकरे खाते फिर रही हैं बेबस महिला।"

Leave a reply

सर्वाधिक पढ़ी गयी

Recently Added

Recently Commented