|

मुख्य विकास अधिकारी की अध्यक्षता में हुई स्वास्थ्य विभाग की समीक्षा बैठक।

ब्यूरो⁄संयोजक‚ सुरेन्द्र शर्मा‚ हापुडः मुख्य विकास अधिकारी दीपा रंजन आज कलेक्ट्रेट सभागार में स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों के साथ संचारी रोग नियंत्रण अभियान एवं दिमागी बुखार पर नियंत्रण एवं नियमित टीकाकरण हेतु समीक्षा बैठक कर रही थी। उन्होंने दिनांक 1 जुलाई 2019 से 31 जुलाई 2019 तक चलने वाले संचारी रोग नियंत्रण अभियान का द्वितीय चरण चलाए जाने हेतु स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों को दिए निर्देश। उन्होंने कहा कि माह जुलाई में संचारी रोग नियंत्रण अभियान चलाते हुए आमजन को जागरूक करने पर विशेष ध्यान दिए जाने की जरूरत है। उन्होंने कहा कि अभियान के माध्यम से ग्रामीण एवं नगरीय निकायों में चुने हुए जनप्रतिनिधियों के सहयोग से संचारी रोगों की रोकथाम तथा साफ सफाई के संबंध में स्वास्थ्य विभाग की टीम द्वारा सहयोग किया जाए तथा आमजन को ग्रामीण एवं नगरीय क्षेत्रों में वातावरण तथा व्यक्तिगत स्वच्छता के उपाय खुले में शौच ना करें,शुद्ध पेयजल के प्रयोग तथा मच्छरों की रोकथाम हेतु जागरूक किया जाए। खुली नालियों को ढकने की व्यवस्था,नालियों में कचरा ना फैलाए जाने की हिदायत भी आमजन को जागरूकता के माध्यम से बताई जाए। मुख्य विकास अधिकारी ने स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिए कि इन रोगों की रोकथाम हेतु विभिन्न विभागों के बीच आपसी समन्वय स्थापित करते हुए एक साथ कार्रवाई कराना अत्यंत आवश्यक है, इसके लिए ब्लॉक स्तर पर समितियों का गठन कर नियमित अंतराल पर विभिन्न विभागों द्वारा किए गए कार्य तथा जनपद में रोग की स्थिति की समीक्षा हेतु बैठकें आयोजित की जानी चाहिए । जनपद में चलाए जा रहे अभियान के दौरान संचालित की जाने वाली गतिविधियों की भी नियमित रूपरेखा तैयार होनी चाहिए। उन्होंने बाल विकास सेवा एवं पुष्टाहार विभाग आईसीडीएस के अधिकारी को निर्देश देते हुए कहा कि आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं को संचारी रोगों तथा दिमागी बुखार हेतु प्रशिक्षण दिया जाना चाहिए। आंगनबाड़ी अपने अपने क्षेत्र में समस्त कुपोषित तथा अति कुपोषित बच्चों की सूची बनाकर उनको उचित पोषाहार तथा नियमित टीकाकरण की समीक्षा करेंगी। उन्होंने कहा कि विकलांग बच्चों के प्रशिक्षण एवं अन्य सुविधाओं की व्यवस्था के लिए विकलांग कल्याण विभाग से समन्वय स्थापित कर उनके स्वास्थ्य की जांच नियमित कराई जाए। संचारी रोगों के नियंत्रण हेतु शिक्षा विभाग द्वारा निरंतर विद्यालयों में दिमागी बुखार तथा उनसे बचाव के उपाय की नियमित जानकारी बच्चों को संदेश के माध्यम से दी जाए। बेसिक शिक्षा अधिकारी को निर्देश दिए कि बच्चों की सामुदायिक गतिविधियां आयोजित कराई जाए जैसे प्रभात फेरी, रैली, नारेबाजी हेडपंप स्थल बैठक क्लोरिनेशन डेमो, पेयजल को उबालना, साबुन से हाथ धोना, शौचालय का प्रयोग आदि जैसी गतिविधियां सभी स्कूलों में कराए जाने के निर्देश दिए हैं। जिससे बच्चे स्वास्थ्य के प्रति जागरूक रहें। मुख्य विकास अधिकारी ने बाल स्वास्थ्य पोषण माह एवं नियमित टीकाकरण दिवस पर प्रत्येक 9 माह से 5 वर्ष तक के सभी बच्चों को विटामिन ए की खुराक 6 माह के अंतराल पर पिलाई जाये इसके लिए स्वास्थ्य विभाग द्वारा कार्यवाही सुनिश्चित कराई जाएगी। उन्होंने स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिए की सभी एएनएम एवं आंगनबाड़ी कार्यकत्रियों को संचारी रोग नियंत्रण हेतु प्रशिक्षण प्रदान कर उनके माध्यम से समस्त स्वास्थ्य केंद्रों पर लोगों को इससे बचने के उपाय की जानकारी देने हेतु लोगों को जागरूक कराने की कार्यवाही सुनिश्चित कराएंगे । इस अवसर पर डिप्टी मुख्य चिकित्सा अधिकारी प्रवीण शर्मा, बेसिक शिक्षा अधिकारी देवेंद्र गुप्ता, यूनिसेफ के प्रतिनिधि सहित स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी उपस्थित थे।

Posted by रवि चौहान on 7:13 pm. Filed under , . You can follow any responses to this entry through the RSS 2.0. Feel free to leave a response

0 टिप्पणियाँ for "मुख्य विकास अधिकारी की अध्यक्षता में हुई स्वास्थ्य विभाग की समीक्षा बैठक।"

Leave a reply

सर्वाधिक पढ़ी गयी

Recently Added

Recently Commented