|

नीली बलेनो एवं ग्रे आई-10 तथा लाल सेन्ट्रो कार से हुई लूटों का पुलिस ने किया सनसनीखेज खुलासा

ग्रेटर नोएडा संवाददाता, वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक गौतमबुद्धनगर वैभव कृष्ण के निर्देशानुसार जनपद पुलिस ने विगत एक वर्ष से जनपदीय पुलिस के लिए चुनौती बन चुकी नीली बलेनो एवं ग्रे आई-10 और लाल सेन्ट्रों कार से रास्ते चलते व्यक्तियों से हुई लूट की घटनाओं का स्टार-1 व 2 टीम तथा स्वाट 1 व 2 टीम एवं थाना सूरजपुर पुलिस के संयुक्त प्रयासों से सफल अनावरण कर दिया है। 18/19 की रात्रि को सुरजपुर थाना क्षेत्र के एफएनजी ग्राम शहादरा पुस्ता के पास मुठभेड़ के उपरांत घटना में शामिल तीन अभियुक्तों सोनू यादव पुत्र भगवानदास यादव निवासी ग्राम कर्णपुरी थाना खेडा राठौर जनपद आगरा हाल पता फ्लैट नंबर 805 मैक्स बिल किंगस्टन सोसायटी सैक्टर-74 नोएडा (शिक्षा 12वीं पास, उम्र 27 वर्ष), ओमवीर भाटी पुत्र फिरे सिंह निवासी सलारपुर थाना सैक्टर 39 नोएडा हाल पता फ्लैट नंबर 1408 प्रोवियू  टैक्नोसिटी सैक्टर चाई-5 ग्रेटर नोएडा (शिक्षा 10वीं, उम्र 35 वर्ष), मोनू यादव पुत्र भगवानदास यादव निवासी ग्राम कर्णपुरी थाना खेडा राठौर जनपद आगरा हाल पता फ्लैट नंबर 805 मैक्स बिल किंगस्टन सोसायटी सैक्टर-74 नोएडा । (शिक्षा 8वीं पास, उम्र 22वर्ष) के अलावा दो सुनारों मोनू पुत्र विजय निवासी राजीव कालोनी सलारपुर थाना सैक्टर 39 नोएडा, विकास पुत्र चन्द्रप्रकाश निवासी ग्राम शाहपुर सैक्टर 128 थाना एक्सप्रेस वे नोएडा को गिरफ्तार कर लिया है। 

अभियुक्तों से बरामदगी 

पकड़े गये अभियुक्तों के कब्जे से पुलिस ने एक लाल सैंट्रों कार, एक ग्रे आई-10 कार, एक नीली बलेनो कार, चार पिस्टल 32बोर मय 30 कारतूस जिन्दा, एक तंमचा बारह बोर मय 9 कारतूस जिन्दा, दो चैन पीली धातु, पॉच हाथ के कड़े पीली धातु, दो अॅगूठी पीली धातु, कारों की फर्जी नम्बर प्लेट, बोल्ट कटर कैंची, मारबल कटर, पॉच मोबाइल फोन
और घटना मे प्रयुक्त करने के लिए मिर्ची पाउडर बरामद किया है। 

अपराध करने का तरीका 

अभियुक्त सोनू और ओमवीर शातिर अपराधी हैं। जिसमें ओमवीर थाना सैक्टर-39 का हिस्ट्रीशीटर भी है। उक्त सोनू, ओमवीर तथा सोनू के भाई मोनू ने मिलकर के 2015 में जेपी अस्पताल के पास से एक सैंट्रो लाल रंग की कार चोरी की थी। जिससे वर्ष 2015-16 में लूट/ छिनैती की घटनाऐं कारित की गयीं। इसी दौरान वर्ष-2016 में उक्त दोनों अभियुक्त थाना सैक्टर 20 से गिरफ्तार हुए। वर्ष-2018 में सैंट्रो गाडी से पहले आई-10 कार लूटी थी। फिर वर्ष-2019 में आई-10 कार से नीली बलेनो कार सदरपुर के पास से लूटी थी। इसके उपरान्त अब तक आई-10 से 12 एवं नीली बलेनो से 7 लूट की घटनाऐं कारित की गयी हैं। उक्त अभियुक्तगणों द्वारा समस्त घटनाऐं दिन में ही की गयी और केवल आभूषण लूटे गये हैं। मात्र सैक्टर 24 से कैश लूट की घटना कारित की गयी थी। लूट के समस्त पीडि़त पुरूष ही होते थे। पूछताछ पर उक्त अभियुक्तगणों द्वारा बताया गया कि दिन में पहने गये आभूषण आसानी से दिख जाते हैं इसलिए घटनाऐं दिन में कारित की गयी। दोपहर का समय इसलिए चुना गया क्योंकि ट्रैफिक कम रहता है एवं घटना के बाद भागने पर पकडे जाने की सम्भावना कम रहती है। पुरूषों को लक्ष्य करने का कारण यह बताया कि पुरूषों के आभूषण सामान्यतः भारी होते हैं और आर्टिफिशियल नहीं होते हैं। घटनाओं की रैकी के बारे में पूछने पर बताया कि पूर्व से कोई लक्ष्य नहीं रहता है। रास्ते चलते किसी व्यक्ति के हाथ में कडा अथवा चैन दिख जाने पर उसे लूट लेते थे। लूटे गये आभूषण विकास एवं मोनू नाम के सुनारों को दिये जाते थे। जो अपना 30 प्रतिशत कमीशन काटकर शेष पैसे अभियुक्तों को वापस कर देते थे। अप्रैल 2019 में आई-10 कार से कैश वैन लूटने का प्रयास किया गया था। कैश वैन का पीछा एडवान्ट से किया था तथा ग्राम गढी शहदरा के पास एटीएम भरते समय लूटने का प्रयास किया था। जिसमें गार्ड के द्वारा फायर किया था हमारी फायरिंग में गार्ड को गोली लगी थी। उक्त घटना में मेरे व सोनू यादव के अलावा प्रवीन पुत्र अज्ञात निवासी शिकोहाबाद जनपद फिरोजाबाद था। इसके अतिरिक्त सैक्टर 78 के पास से सीएनएन के पत्रकार से भी लूट की घटना कारित करना स्वीकार किया है। उपरोक्त अभियुक्तगण बलेनो और आई-10 सैक्टर 93 सुपर एमआईजीफ्लैटों की पार्किग में खडी करते थे। ओमवीर और सोनू, ओमवीर की वर्ना गाडी से सैक्टर 93 सुपर एमआईजी आते थे जहॉ वे अपनी वरना कार खडीकर आई-10 अथवा बलेनो को लेकर घटना करते थे। और घटना के बाद वापस वहीं कार खडी कर अपनी वरना कार से निकल जाते थे। सैंट्रो गाडी काफी समय से सैक्टर 82 केन्द्रीय विहार सोसायटी में खडी कर रखी थी।अभियुक्तों ने बरामद असलहों के बारे में बताया गया कि उक्त पिस्टल व तंमचे राशिद निवासी एटा से 26,000 रूपये प्रत्येक पिस्टल की दर से खरीदे गये थे।गिरफ्तारी तक अभियुक्त सोनू पर 31 मुकदमे, ओमवीर भाटी पर 38 मुकदमे और मोनू यादव पर 4 मुकदमे पंजीकृत थे। 

पुलिस टीम को मिला पुरस्कार 

पुलिस महानिदेशक उत्तर प्रदेश के द्वारा उपरोक्त अभियुक्तों को गिरफ्तार करने वाली अपराध शाखा की चारों टीमों व प्रभारी निरीक्षक सूरजपुर मुनीष प्रताप सिंह की टीम के उत्साहवर्धन हेतु 50,000 रूपये का नगद पुरस्कार व प्रशस्ति पत्र देने की घोषणा की गयी है। पीयूष कुमार क्षेत्राधिकारी नगर द्वितीय, श्वेताभ पाण्डेय क्षेत्राधिकारी ग्रेटर नोएडा प्रथम और एसआई पटनीश कुमार थाना सुरजपुर को लिए डीजी कमेंडेशन डिस्क देने की घोषणा की गयी है।


गिरफ्तार करने वाली टीम

स्टार-1 टीम - एस आई धर्मेन्द्र कुमार शर्मा, एस आई योगेश मलिक, एस आई विकास शर्मा,मुख्य आरक्षी धर्म सिंह, कांस्टेबल वरूणवीर, कांस्टेबल सुबोध कुमार, कांस्टेबल अंकुर, कांस्टेबल अंकित पंवार
स्टार-2 टीम - निरीक्षक दिनेश सिंह, एस आई यतेन्द्र कुमार, मुख्य आरक्षी कृष्ण कुमार, प्रवीण कुमार, कांस्टेबल अमित शर्मा, कांस्टेबल विनय कुमार, कांस्टेबल अमित, कांस्टेबल उदयवीर, कांस्टेबल संदीप
स्वाट-1टीम - एस आई रामफल सिंह,मुख्य आरक्षी जयविजय, कृष्ण कुमार, कांस्टेबल उजैर रिजवी, कांस्टेबल अंकित कुमार, कांस्टेबल पुनीत, कांस्टेबल सचिन वैसला, कांस्टेबल शमशाद
स्वाट-2 टीम - एस आई शावेज खान, एस आई सतेन्द्र मोतला, मुख्य आरक्षी भूपेन्द्र सिह, कांस्टेबल आदिल जैदी, कांस्टेबल इदरीश, कांस्टेबल सुनील लाटियान, कांस्टेबल अमित यादव
थाना सूरजपुर-प्रभारी निरीक्षक मुनीष चौहान, एस आई पटनीश कुमार मय हमराह पुलिस बल 

Posted by रवि चौहान on 6:08 pm. Filed under . You can follow any responses to this entry through the RSS 2.0. Feel free to leave a response

0 टिप्पणियाँ for "नीली बलेनो एवं ग्रे आई-10 तथा लाल सेन्ट्रो कार से हुई लूटों का पुलिस ने किया सनसनीखेज खुलासा"

Leave a reply

सर्वाधिक पढ़ी गयी

Recently Added

Recently Commented