|

कवाल कांड के सात दोषियों को आजीवन कारावास की सजा।

संवाददाता‚ राजेन्द्र सिंह‚ मुजफ्फरनगर। कवाल कांड में अदालत ने सातों आरोपियों को सुनाई आजीवन कारावास की सजा सुनाई है। इसके अलावा सभी आरोपियों पर दो-दो लाख रुपये का जुर्माना भी लगाया गया है। इसमें अस्सी प्रतिशत धनराशि पीड़ित परिवारों को दी जाएगी। 27 अगस्त, 2013 को जानसठ कोतवाली क्षेत्र के कवाल गांव में मलिकपुरा के गौरव और उसके ममेरे भाई सचिन की हत्या कर दी गई थी। माना जाता है कि कवाल की घटना के बाद ही मुजफ्फरनगर में दंगे भड़के थे। बाद में माहौल और बिगड़ता चला गया। सात सितंबर की नंगला मंदौड़ पंचायत से लौटते लोगों पर कई जगह हमले हुए। अगले दिन हिंसा भड़क उठी थी। करीब साढ़े पांच साल पहले कवाल में सचिन व गौरव हत्याकांड में एडीजे-7 की कोर्ट ने 7 मुल्‍जिमों को दोषी ठहराया था। आज उन 7 दोषियों को सजा सुनाई गई। पुलिस-प्रशासन की ओर से एहतियातन गांव में सुरक्षा व्यवस्था के प्रबंध किए गए हैं। 27 अगस्त 2013 को कवाल गांव में हुई शाहनवाज। सचिन और गौरव की हत्या के बाद जिले में दंगा भड़क गए थे। वादी पक्ष के अधिवक्ता अनिल जिंदल ने बताया कि इस मामले में मृतक गौरव के पिता रविन्द्र की ओर से जानसठ कोतवाली में कवाल निवासी मुजस्सिम, मुजम्मिल, फुरकान, नदीम, जहांगीर, शाहनवाज (मृतक) और अफजाल के विरुद्ध हत्या का मुकदमा दर्ज कराया गया था। वहीं, मृतक शाहनवाज के पिता सलीम ने दोनों मृतकों सचिन व गौरव के अलावा उनके परिजनों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया था।

Posted by रवि चौहान on 4:12 pm. Filed under , . You can follow any responses to this entry through the RSS 2.0. Feel free to leave a response

0 टिप्पणियाँ for "कवाल कांड के सात दोषियों को आजीवन कारावास की सजा।"

Leave a reply

सर्वाधिक पढ़ी गयी

Recently Added

Recently Commented