|

पुलिस अधीक्षक अजय कुमार पांडेय ने चलाया अवैध नशा कारोबार मुक्ति अभियान।

जनपद शामली के पुलिस अधीक्षक अजय कुमार पांडेय द्वारा चलाये जा रहे अवैध नशा कारोबार मुक्ति अभियान से हाईवे के ढाबों पर मंदी के बादल जरूर छाए हैं। मगर क्षेत्र में पुलिस अधीक्षक महोदय के इस कदम की खुलकर प्रशंसा हो रही है।विदित हो जनपद शामली के पुलिस अधीक्षक अजय पांडेय ने जनपद की कमान संभालते ही हाईवे के संचालित होटलों द्वारा अवैध नशा कारोबार मुक्ति अभियान चलाते हुए पुलिस की अवैध वसूली को तत्काल बंद करा दिया था। एक बार यह उठाया गया कदम लग रहा था कि हमेशा की तरह शायद इस बार भी केवल आदेश तक सिमट कर रह जाएगा। लेकिन तेजतर्रार पुलिस अधीक्षक महोदय की कथनी और करनी की समानता से कार्यवाही साफ नजर आई। परिणाम स्वरूप शामली बिड़ौली क्षेत्र के ढाबा संचालकों ने पुलिस के तेवरों के विरुद्ध ना जा कर होटलों पर बिकने वाला डोडा पोस्त एवं अन्य नशीले पदार्थों की बिक्री को मजबूरन बंद कर दिया। गाँव पटनी परतापुर निवासी चौधरी नरेंद्र, राजपाल सैनी ने खुलकर पुलिस अधीक्षक के इस कदम की तारीफ की। जिसके चलते ढाबा संचालकों का कहना है। कि इस अभियान में कारोबार पर मंदी का असर जरूर पड़ा है। लेकिन इन अवैध कार्यों से क्षेत्र में नशे की लत के साथ गुंडागर्दी जोर पकड़ रही थी। जिसके चलते विभिन्न अपराध होना स्वाभाविक था। ज्ञात हो इन अवैध नशाखोरी के धंधे को करने की एवज में पुलिस ही नहीं तथाकथित मीडिया एवं दलालों की भी पोबारह होती थी। जिस पर पुलिस अधीक्षक की कार्यवाही के चलते बहुत कुछ हद तक रोक लग चुकी है। गुंडागर्दी पर कंट्रोल हैं। हालांकि सूत्रों के अनुसार इन ढाबों पर ट्रको द्वारा अवैध रूप से विभिन्न सामानों को बेचे जाने का सिलसिला अभी जारी है । जिनसे क्षेत्र के चंद दलाल, व्यापारियों‚ एवं संचालकों की मौज रहती है। ऐसा नहीं की खुफिया विभाग या पुलिस प्रशासन इससे अनभिज्ञ हो। परंतु कुल मिलाकर क्षेत्र से अवैध नशे के कारोबार के विरुद्ध चलाए गए पुलिस अधीक्षक के इस अभियान को क्षेत्र के थाना प्रभारी ओ पी चौधरी ने मुस्तैदगी के साथ चलाकर अभी तक जहां हाईवे पर चेकिंग के दौरान लाखों रुपए का डोडा पोस्त, कच्ची शराब, अंग्रेजी शराब या रेक्टिफाइड को पकड़ कर थाना झिंझाना को जनपद का सबसे अधिक बोली वाला थाना साबित कर ही दिया। गौरतलब हो कि झिंझाना थाना अध्यक्ष बनने के लिए अब से पहले सबसे अधिक बोली लगाकर चार्ज लिए जाने की चर्चा होती रही है। परिणाम स्वरूप थाने का चार्ज संभालने के बाद पूर्व के कई थानाध्यक्ष अकूत संपत्ति के मालिक भी बने हैं। वर्तमान थाना प्रभारी ओ पी चौधरी, पुलिस अधीक्षक के नेतृत्व एवं अपनी ईमानदारी, कार्यशैली के चलते क्षेत्र में नशाखोरी एवं तस्करी के अवैध कार्यों को रोकने के लिए हमेशा कटिबद्ध है। उनकी व्यवहार कुशलता की खुलकर तारीफ हो रही है।

Posted by रवि चौहान on 5:08 pm. Filed under , . You can follow any responses to this entry through the RSS 2.0. Feel free to leave a response

0 टिप्पणियाँ for "पुलिस अधीक्षक अजय कुमार पांडेय ने चलाया अवैध नशा कारोबार मुक्ति अभियान।"

Leave a reply

सर्वाधिक पढ़ी गयी

Recently Added

Recently Commented