|

हथछोया में शव को सड़क पर रखकर ग्रामीणों ने लगाया जाम।

दीपक कुमार जांगिड ब्यूरो शामली। झिंझाना में ऊन क्षेत्र के हथछोया गांव में सोमवार की शाम को कथित रूप से छत से गिरकर हुई करीब युवक की हुई मौत के विरोध में मृतक का पोस्टमार्टम कराने के बाद ग्रामीणों ने शव को ऊन - थानाभवन मार्ग पर रखकर करीब 6 घंटे तक जाम लगाया और दोषी पुलिसकर्मियों कर्मियों व दूसरे संप्रदाय के लोगों पर हत्या का आरोप लगाते हुए मुआवजे की मांग की। सूचना मिलते ही अपर पुलिस अधीक्षक, सीओ कैराना तथा झिंझाना थाना प्रभारी समेत आवश्यक पुलिस बल मौके पर पहुंच गया‚ और लोगों को समझा बुझाकर जाम खुलवाने की कोशिश की। मगर तब तक गन्ना राज्य मंत्री सुरेश राणा के भाई एवं गांव तथा समाज के अन्य कई नेता भी मौके पर पहुंच गए। और सभी ने जहां छत से गिरकर हुई मौत को गलत करार दिया। साथ ही डायल हंड्रेड के पुलिसकर्मियों व दूसरे संप्रदाय के लोगों पर हत्या करने का आरोप लगाया। पुलिस ने इस मामले में फिलहाल 6 लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज करके जांच शुरू कर दी है। मिली जानकारी के अनुसार थाना क्षेत्र की पुलिस चौकी ऊन के गाँव हथछोया में पिन्डोरा तिराहे के पास राजेंद्र कश्यप उर्फ सोल्हू पुत्र जयपाल लगभग 28 वर्ष का वही पड़ोस में झगड़ा हो गया था। जिस पर डायल हंड्रेड पुलिस को मौके पर बुलाया गया था। जारी एक वीडियो के अनुसार डायल हंड्रेड व दूसरे संप्रदाय के लोगों के द्वारा अच्छी खासी खींचतान होती दिखाई दे रही है। जिसमें उसकी पिटाई के दौरान मौत होना बताया गया था। मौत के बाद गांव में सोमवार की रात अच्छा खासा हंगामा हुआ था और रात में ही पुलिस ने पोस्टमार्टम भी करा दिया था। पोस्टमार्टम के बाद सोल्हू का शव गांव में आज सुबह लगभग 5 बजे पहुंचा तो पीड़ितों ने आज सुबह ही शव को ऊन थाना भवन मार्ग पर रखकर जाम लगा दिया। जाम की सूचना मिलते ही अपर पुलिस अधीक्षक अजय प्रताप, सी ओ कैराना राजेश तिवारी, थाना प्रभारी निरीक्षक ओ पी चौधरी, ऊन चौकी प्रभारी विनीत मलिक समेत भारी पुलिस बल मौके पर पहुंच गया। जाम की सूचना पर ही गांव के भाजपा नेता तथा गन्ना राज्य मंत्री सुरेश राणा के भैय्या बिल्लू आदि काफी भाजपाई भी मौके पर पहुंच गये‚  पीडितों को समझाने - बुझाने की कोशिश की, मगर प्रदर्शनकारी टस से मस ने हुए बाद में कश्यप समाज के कई अन्य भाजपा नेता भी वहां पहुंचे और उन्होंने पुलिस कार्रवाई का आश्वासन देकर तथा 1 हफ्ते के अंदर पीड़ितों को मुआवजा राशि दिलाने का आश्वासन पर धरना प्रदर्शन समाप्त करा दिया। तब जाकर पुलिस की जान में जान आई। धरना प्रदर्शन लगभग 6 घंटे रहा दूसरी ओर इस मामले में मृतक के भाई अंकित पुत्र जयपाल की तहरीर के आधार पर पुलिस ने गांव के ही हाशिम पुत्र नूरा, रीफू पुत्र असगर, सहादत व सदाकत पुत्रगण रीफू, वासर पुत्र विसुर, आमिर पुत्र वासर, के खिलाफ आईपीसी की धारा 147 148 302 में अभियोग पंजीकृत कर कार्रवाई शुरू कर दी है। पुलिस अभियुक्तों की तलाश में लगातार दबिश दे रही है।

Posted by रवि चौहान on 2:48 pm. Filed under , , , , . You can follow any responses to this entry through the RSS 2.0. Feel free to leave a response

0 टिप्पणियाँ for "हथछोया में शव को सड़क पर रखकर ग्रामीणों ने लगाया जाम।"

Leave a reply

Recently Added

Recently Commented