|

प्रसव के दौरान इंफेक्शन फैलने से गई महिला की जान, परिवार वालों ने चिकित्सकों पर लगाया इलाज में लापरवाही का आरोप।

संवाददाता‚ प्रवीन सैनी‚ मेरठ। दुनिया के दूसरे भगवान कहे जाने वाले चिकित्सकों की लापरवाही की वजह से आए दिन कहीं ना कहीं कितने ही लोगों की जान, जाने के मामले सामने आते रहते हैं। देश और प्रदेश सरकार के सख्त आदेशों की धज्जियां उड़ाते हुए खूब लापरवाही बरत रहे हैं। चिकित्सक, जिस कारण लोग अपनी जान गवा रहे हैं। ताजा मामला इंचौली थाना क्षेत्र के कस्बा लावड़ मोहल्ला सानियान वार्ड नंबर 14 का है। जहां दौराला सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र के चिकित्सकों की लापरवाही के कारण एक जच्चा महिला मौत की भेंट चढ़ गई। मृतक महिला के पति अर्जुन पुत्र रामानंद ने जानकारी देते हुए बताया कि उनकी पत्नी 23 वर्षीय पूनम पूरे गर्भ से थी। 15 अक्टूबर 2018 को पत्नी पूनम को प्रसव पीड़ा होने लगी तो उन्होंने तुरंत दौराला सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में पत्नी को भर्ती करा दिया जहां 16 अक्टूबर 2018 की सुबह उनकी पत्नी की नॉर्मल डिलीवरी की गई। जिसमें एक पुत्र ने जन्म लिया जिसके बाद दोपहर में जच्चा और बच्चे को डिस्चार्ज कराकर घर ले आए जहां घर पर आने के चार-पांच दिन बाद पत्नी पूनम की तबीयत खराब होने लगी। जिसके चलते  मेरठ स्थित प्राइवेट अस्पताल में उपचार कराने हेतु ले गए जहां डॉक्टरों ने बताया कि प्रसव के दौरान लापरवाही बरतने के कारण जच्चा के शरीर में काफी इंफेक्शन फैल गया है‚ और उपचार करने में असमर्थता जताई उसके बाद पीड़ित अर्जुन ने बताया कि पत्नी के इलाज के लिए अपने परिवारजनो के साथ कई अस्पतालों में गया। लेकिन हर जगह निराशा ही हाथ लगी। अर्जुन ने बताया कि हाल ही में उसकी पत्नी का उपचार दिल्ली सफदरगंज हॉस्पिटल में चल रहा था जहां 6 नवंबर 2018 को अधिक इनफेक्शन फैलने के कारण पत्नी पूनम की मौत हो गई। वहीं रोते बिलखते और आक्रोशित मृतक महिला के परिजनों ने बताया कि दौराला सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पर इलाज का मुकम्मल इंतजाम नहीं रहने वह महिला चिकित्सक की लापरवाही के कारण जच्चा की मौत हुई है। जब डिलीवरी की जा रही थी। तब वहां पर एक भी चिकित्सक मौजूद नहीं थी। बल्कि महिला चिकित्सक की सहायता कर्मी महिलाओं ने डिलीवरी कराई थी और महिला चिकित्सक के आने पर खुद ही डिलीवरी करने की बात कहते हुए अपनी प्रशंसा की ओर खुद को शाबाशी दी थी । उसके बाद  उन्होंने प्रसव कराने का खर्च  मांगते हुए हमसे रुपये ऐठ लिए व हमसे जबरदस्ती मिठाई मंगवाई गई। उनके इस घिनौने एक्सपेरिमेंट के कारण आज हमारा परिवार उजड़ गया है। चिकित्सको की बड़ी लापरवाही की वजह से दो बच्चों के सर से मां का साया उठ गया एक बच्चा जो अभी दुनिया में आया है व दूसरा बच्चा जो कि दो वर्ष का है। वहीं मौके पर मौजूद R.R.S  नेता दिनेश शर्मा ने क्षेत्रीय विधायक ठाकुर संगीत सोम को फोन कर पूरे मामले की जानकारी दी जिसमें विधायक ठाकुर संगीत सोम ने पीड़ित परिवार को सांत्वना देते हुए हर संभव मदद करने एव उचित कानूनी कार्यवाही करने की बात कही। दौराला सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र प्रभारी डॉक्टर सचिन से जब इस पूरे मामले की जानकारी ली तो उन्होंने बताया कि अभी हाल ही में कुछ दिन पहले वे दौराला सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पर आए हैं और इस तरह का कोई भी मामला उनके संज्ञान में नहीं है। साथ ही साथ बताया  कि यह एक बहुत ही दुखद एवं गंभीर विषय है एक नवजात बच्चे से उसकी मां का साया छिन गया इस घड़ी में मेरी संवेदनाएं पीड़ित परिवार के साथ है । और हमें कोई शिकायत पत्र मिलता है तो हम उसकी तुरंत जांच करेंगे और अगर कोई भी लापरवाही में दोषी पाया जाता है तो उसके खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी।

Posted by रवि चौहान on 4:26 pm. Filed under , , , , , . You can follow any responses to this entry through the RSS 2.0. Feel free to leave a response

0 टिप्पणियाँ for " प्रसव के दौरान इंफेक्शन फैलने से गई महिला की जान, परिवार वालों ने चिकित्सकों पर लगाया इलाज में लापरवाही का आरोप।"

Leave a reply

सर्वाधिक पढ़ी गयी

Recently Added

Recently Commented