|

एसडीएम साहब एक नजर इन पर भी हो जाये, आरटीओ साहब एक इन पर भी हो जाये।

दीपक कुमार जांगिड ब्यूरो शामली। कांधला। कैराना क्षेत्र से यमुना नदी का सीना छलनी कर खनन माफिया इन दिनों सड़कों के दुश्मन बन गए हैं। खनन माफिया कानून को ताक पर रखकर ओवरलोड डंपर धड़ल्ले से चला रहे हैं। जिस कारण क्षेत्र की सड़कों की हालत बदतर हो गई है हाल यह है कि सड़कों में कई कई फुट गहरे गड्ढे बन गए हैं। जिससे लोग हादसों के शिकार होकर चोटिल हो रहे हैं। स्थानीय प्रशासन और खनन अधिकारी के गठजोड़ से चल रहे। इस काले कारनामे से उच्च अधिकारी कुंभकरण नींद सोए हुए हैं। आपको बता दें खनन माफिया ने निर्माण कार्य में प्रयोग होने वाली रेत को अधिक मुनाफे पर चांदी काटने के लिए इस कार्य को प्रगति दे दी है। खनन माफिया दिन और रात में पोर्कलेन मशीन के माध्यम से रेत से भरे डंपर व अन्य वाहनों में ओवरलोड से कई गुना अधिक रेत भर कर कैराना से होते हुए कांधला बुढाना क्षेत्र में भेज रहे हैं। खादी व खाकी का संरक्षण प्राप्त है खनन माफियाओं को एंट्री के नाम पर पुलिसकर्मी लेते हैं। सूत्रों की मानें तो खनन प्वाइंट खादी के संरक्षण से चलता है और खनन प्वाइंट से बाहर खाकी के संरक्षण में सूत्रों की माने तो खाकी धारी पुलिसकर्मी खनन माफियाओं से अपने क्षेत्र में घुसने के लिए एंट्री के नाम पर हजारों रुपए वसूलते हैं और खनन माफियाओं के  रेत से भरे डंपर वाहनों को अपनी सीमा क्षेत्र से बाहर सकुशल दूसरे क्षेत्र तक छोड़ कर आते हैं। ना ही पूरे कागज और ना ही परमिट फिर भी फर्राटे भरते हैं रेत से भरे डंपर वहान सूत्रों की मानें तो रेत से भरे इन ओवरलोड डंपर वाहनों के  नहीं तो पूरे कागज हैं और ना ही परिवहन विभाग की ओर से परमिट अब देखने वाली बात यह होगी कि रेत से भरे ओवरलोड डंपर वाहन जो लाखों करोड़ों की लागत से बनी सड़कों को तोड़ रहे हैं। उन पर प्रशासन क्या कार्रवाई करता है। जब ओवरलोड रेत से भरे डंपर वाहनों के बारे में शामली आरटीओ मुंशीलाल से बात करनी चाही तो उनके नंबर पर संपर्क नहीं हो सका।

Posted by रवि चौहान on 1:17 pm. Filed under , , , , , . You can follow any responses to this entry through the RSS 2.0. Feel free to leave a response

0 टिप्पणियाँ for "एसडीएम साहब एक नजर इन पर भी हो जाये, आरटीओ साहब एक इन पर भी हो जाये।"

Leave a reply

सर्वाधिक पढ़ी गयी

Recently Added

Recently Commented