|

जहानाबाद में मँडी समिति के अधिकारियों कर्मचारियों की मिलीभगत के कारण किसानों की लचारी का उठा रहे फायदा।

संवाददाता‚ संदीप कुमार‚ फतेहपुर। जानाबाद में मंडी समिति के सब्जी व्यापारियों के सिंडीकेटोँ के जाल में फसा हैं। क्षेत्र का मजबूर किसान जहां एक ओर सब्जी उत्पादन मे क्षेत्र नम्बर वन है। जहानाबाद अमौली सहित आसपास का क्षेत्र सब्जी उत्पादन करने में अग्रणी भूमिका निभा रहा है। वहीं यहां के उत्पादित किए हुए किसानों का कच्चा माल देश की बड़ी बड़ी मंडियों पर बिक्री होता है। वह इन सिंडीकेट व्यापारी द्वारा एक सिंडीकेट के चलते किसानों का माल खरीद कर उन्हें बड़ी-बड़ी मंडियों पर बेचकर मोटा मुनाफा वसूल कर उन्हें बिके हुए माल की आधी अधूरी कीमत किसानों को थमा रहे है। मुनाफाखोरी के चलते रातों रात बन रहे हैं। लखपती तथा करोड़पतीँ जहां एक ओर किसान हाडकपाऊ सर्दी तथा बरसात सहित भीषण गर्मी का प्रकोप झेल इस क्षेत्र का किसान सब्जी का उत्पादन करने के लिए दिन रात एक कर देता है। जब उसे वह अपने उत्पादन की हुई सब्जी बेचने बाजार जाता है। तो यहां का सिंडीकेट व्यापारी मुनाफाखोरी के चलते उससे उधार माल खरीद बगैर भाव बताएं उसे अन्य प्रांतों की मंडियों पर भेजने के बाद हफ्तों बाद उनका भुगतान मनमाने रेट से करने का कार्य करते हैं। जहां एक ओर इन पर मंडी समिति के बड़े-बड़े अधिकारियों व कर्मचारियों की मिलीभगत होती है। तो वहीं मंडी का करोड़ों रुपए सलाना का राजस्व का चूना लगाने से भी मुनाफाखोर व्यापारी नहीं चूकते वर्तमान समय में इन दिनों मिर्च व फूलगोभी का उत्पादन बड़े जोरों से हो रहा है। लगभग 40 से 50 ट्रक मिर्चा क्षेत्र से निकलकर अन्य प्रांतों में जाता है। यहां का मुनाफा खोर व्यापारी सबसे पहले किसानों को ठगने का काम करता है। उसके उपरांत आधी अधूरी मंडी की अदायगी कर गैर प्राँत में भेजने का कार्य कर रहा है। जहां एक ओर शासन को लाखों रुपए का राजस्व का चूना लगने के बावजूद मँडी सिमित अपने कर्मचारियों की पीठ थपथपा ने में मशगूल होते हैं। वहीं दूसरी तरफ यह मुनाफाखोर व्यापारी ग्रामीण क्षेत्रों में पहुंच किसानों माल तौल कराते हैं। जहां मनचाही तौल कर कर किसानों के छलावा करते हैं। ग्रामीण क्षेत्रों मे लगने वाली मँडी पूरी तरह से अवैध हैं। दूसरी तरफ कर रहे हैं क्षेत्र के किसान इन दिनों मुनाफाखोरी व्यापारियों व सिंडीकेट के विरुद्ध धीरे-धीरे धीरे आवाज बुलँद करने का कार्य कर रहे हैं। बीते 2 दिन पूर्व थाना क्षेत्र के खजुरिया ग्राम में हुई मारपीट का भी नतीजा सिर्फ किसान द्वारा भाव पूछने का कारण बताया जा रहा है। परंतु वहीं व्यापारी एकजुट होकर प्रशासन व शासन के ऊपर दबाव बनाकर निर्दोष किसानों को जेल भेजने का भी कार्य कराने पर जुटे हुए थे। थाना प्रभारी निरीक्षक सुरेश सिंह ने मौके की नजाकत भाग उन किसानों को शांति भंग के आरोप पर चालान भेज ने कार्य का कार्य किया वह धीरे-धीरे किसानों का आक्रोश बढ़ता चला जा रहा है। इन मुनाफा को व्यापारियों पर अंकुश नहीं लगाया गया। तो वह दिन दूर नहीं यहां का भी किसान सड़कों पर उतर आएगा।

Posted by रवि चौहान on 5:26 pm. Filed under , , , , . You can follow any responses to this entry through the RSS 2.0. Feel free to leave a response

0 टिप्पणियाँ for " जहानाबाद में मँडी समिति के अधिकारियों कर्मचारियों की मिलीभगत के कारण किसानों की लचारी का उठा रहे फायदा।"

Leave a reply

सर्वाधिक पढ़ी गयी

Recently Added

Recently Commented