|

खाद्य विभाग की छापेमारी में पकड़ा गरीबों का निवाला।

दीपक कुमार जांगिड ब्यूरो शामली यूपी। शामली क्षेत्र के गाँव मलकपुर में पूर्व राशन डीलर द्वारा कालाबाजारी के लिए पडोस में छिपाकर रखे गए 42 बोरे गेहूं व 12 बोरे चावल के बरामद हुए। 15 दिन पहले ही अनियमितता के चलते दुकान निरस्त की गई थी। कैराना। जिला प्रशासन के निर्देश पर खाद्य विभाग की टीम ने गांव मलकपुर में दो घरों पर छापेमारी कर गरीबों के हिस्से के खाद्यान्न को छिपाकर रखे गए 42 बोरे गेहूं व 12 बोरे चावलों के भरे हुए बरामद किए हैं। इस राशन को पूर्व राशन डीलर ने पडोस में इसलिए छिपाया था, क्योंकि रातों के अंधेरे में उसे कालाबाजारी के लिए निकालना था। पंद्रह दिन पूर्व ही डीलर की दुकान को अनियमितता के चलते निरस्त किया गया था।
आरोपी पूर्व राशन डीलर और मकान मालिक मौके से फरार हो गए। खाद्य विभाग ने राशन को कब्जे में लेकर डीएम को रिपोर्ट भेज दी है। क्षेत्र के ग्राम मलकपुर के ग्रामीणों ने बुधवार दोपहर जिलाधिकारी इंद्र विक्रम सिंह को सूचना दी कि गांव के पूर्व राशन डीलर द्वारा दुकान के निरस्तीकरण से पहले का बचे हुए गरीबों के हिस्से के खाद्यान्न को कालाबाजारी करने हेतु पडोस के ही मकानों में रखा हुआ है। इस पर डीएम ने मामले को गंभीरता से लेते हुए तत्काल खाद्य विभाग को मौके पर जाकर कार्रवाई करने के निर्देश दिए।
डीएम के निर्देशों के अनुपालन में खाद्य विभाग के एआरओ अजय सिंह व आपूर्ति निरीक्षक संजय कुमार सक्सेना पुलिस टीम के साथ मौके पर पहुंच गए, जहां पर पूर्व राशन डीलर संत कुमार के घर पर छापेमारी की गई, जिस पर वह मौके से फरार हो गया, लेकिन टीम को उसके घर पर कोई सफलता नहीं मिली। इसके बाद पडोसी नरेश व नाथी के मकान पर छापेमारी की गई। दोनों ही घरों का नजारा देखकर टीम की आंखें फटी की फटी रह गई। दरअसल, दोनों घरों में भारी मात्रा में गरीबों के हिस्से का खाद्यान्न भरा हुआ था। शामली क्षेत्र के गांव मलकपुर में राशन डीलर के द्वारा राशन की दुकान निरस्त होने के बावजूद पडोस के दो घरों में छुपा कर रखे गये  राशन के 41 बोरा गेहूं व 12  कट्टे चावल पूर्ति विभाग के अधिकारी संजय कुमार सक्सेना ने  पकडे। यानि कि 20.4 क्विंटल गेहूं तथा 12 बोरे यानि कि 6 क्विंटल चावलों के भरे हुए बरामद कि।
इस दौरान मौके से मकान मालिक भी फरार होने में सफल हो गए। बाद में टीम ने बरामदशुदा तमाम राशन को अपने कब्जे में ले लिया। बताया जाता है कि लगभग पंद्रह दिन पूर्व राशन डीलर संत कुमार द्वारा राशन को लेकर ग्रामीणों के साथ मारपीट कर दी गई थी। जिसके बाद ग्रामीणों ने तहसील का घेराव करते हुए एसडीएम को शिकायत की थी। जांच में अनियमितता पाए जाने पर डीलर की दुकान को निरस्त कर दिया गया था। इसके बाद से खाद्य विभाग के अधिकारी पूर्व राशन डीलर से शेष बचे खाद्यान्न को उपलब्ध कराने की बात कह रहे थे, लेकिन वह राशन सब वितरण होने की बात कहकर अधिकारियों को गुमराह करता चला आ रहा था, जबकि दूसरी ओर ग्रामीण निरंतर शिकायत भी कर रहे थे।
तीन दिन पूर्व भी खाद्य विभाग की टीम शिकायत पर गांव में पहुंची थी और पूर्व राशन डीलर के घर पर छापेमारी करते हुए उसे राशन उपलब्ध कराने की बात कही थी, लेकिन वह नहीं मान रहा था। उधर, आपूर्ति निरीक्षक संजय कुमार सक्सेना का कहना है कि पकड़ा गया राशन पूर्व राशन डीलर संत कुमार का है, जिसे कालाबाजारी के लिए रखा हुआ था। राशन को कब्जे में ले लिया गया है। आगे की कार्रवाई के लिए डीएम को रिपोर्ट भेज दी गई है।

Posted by रवि चौहान on 4:13 pm. Filed under , , , , , . You can follow any responses to this entry through the RSS 2.0. Feel free to leave a response

0 टिप्पणियाँ for "खाद्य विभाग की छापेमारी में पकड़ा गरीबों का निवाला।"

Leave a reply

सर्वाधिक पढ़ी गयी

Recently Added

Recently Commented