|

जिलाधिकारी गौतमबुद्धनगर, जेवर तहसील प्रशासन और जेवर विधायक की मेहनत रंग लायी, जेवर एयरपोर्ट के जमीन अधिग्रहण के लिए धारा 11 हुई लागू

सोनू शर्मा संवाददाता, जिलाधिकारी गौतमबुद्धनगर बीएन सिंह के निर्देशन मे जेवर तहसील प्रशासन के सभी अधिकारियों के अथक प्रयासों से एक अदभुत सफलता क्षेत्रवासियों को मिली है। ग्रेटर नोएडा के जेवर मे बनने वाले अन्तराष्ट्रीय ग्रीनफील्ड एयरपोर्ट के लिए शासन ने धारा 11 लागू कर दी है। अब जेवर एयरपोर्ट के लिए निर्माण की सभी बाधाएं दूर हो गयी। जेवर तहसील प्रशासन के अथक प्रयासों से ही जेवर एयरपोर्ट के निर्माण का रास्ता प्रशस्त हुआ। जेवर एयरपोर्ट के लिए मई माह मे जेवर के उपजिलाधिकारी प्रसून द्विवेदी और तत्कालीन तहसीलदार जेवर अभय कुमार सिंह द्वारा सभी छः ग्रामों मे जाकर जनसुनवाई शुरू की गयी। जिसमे किसानों ने अपनी समस्या से अवगत कराते हुए कम मुआवजे को लेकर विरोध करना शुरू कर दिया। जिसके बाद एस डी एम जेवर और तहसीलदार जेवर ने गाँवों जाकर के किसानों को समझाना शुरू किया। और एयरपोर्ट से क्षेत्र को होने वाले फायदों के बारे किसानों को बताया। जिलाधिकारी गौतमबुद्धनगर ब्रजेश नारायण सिंह ने छः ग्रामों मे तीन दिन तक कैम्प किया। और किसानों की मुआवजे बढाने की मांग को मानते हुये पाँच सौ रूपये वर्गमीटर और बढवा दिया। उसके बाद भी किसान असंतुष्ट थे। जिसके बाद जेवर विधायक धीरेंद्र सिंह, उपजिलाधिकारी जेवर प्रसून द्विवेदी, उपजिलाधिकारी सदर राजपाल सिंह, उपजिला मजिस्ट्रेट/प्रभारी जेवर एयरपोर्ट अभय कुमार सिंह, तहसीलदार जेवर विजय शंकर मिश्रा के साथ जेवर तहसील के सभी लेखपालों और कर्मचारियों ने दिन रात की मेहनत कर किसानों को व्यक्तिगत रूप से समझाना शुरू किया। उपरोक्त सभी की मेहनत रंग लाने लगी और किसान अपनी जमीन देने के लिए आगे आने लग। जिलाधिकारी गौतमबुद्धनगर के निर्देशन मे एस डी एम जेवर, प्रभारी जेवर एयरपोर्ट और जेवर तहसील प्रशासन का शेष किसानों मनाने के लिए हर तरह से जीजान से लग गये।अधिकारियों ने इसके लिए किसानों के साथ बैठकर खाना भी खाया और उनको हर तरह से समझाया। जिसके सकारात्मक परिणाम भी सामने और जेवर एयरपोर्ट निर्माण के लिए आवश्यक आंकड़े को प्रशासन प्राप्त कर अपनी मेहनत सफल कर ली।और जेवर एयरपोर्ट निर्माण की राह प्रशस्त हो गयी। और मंगलवार को शासन द्वारा जेवर एयरपोर्ट के लिए होने वाले भूमि अधिग्रहण के लिए धारा 11 लागू कर दी गयी है। किसानों की आपत्ति के लिए दो महीने का समय दिया गया है। जेवर एयरपोर्ट निर्माण के लिए मेहनत करने के लिए जिलाधिकारी गौतमबुद्धनगर ब्रजेश नारायण सिंह,जेवर विधायक ठाकुर धीरेन्द्र सिंह, एस डी एम जेवर प्रसून द्विवेदी, उपजिला मजिस्ट्रेट /प्रभारी जेवर एयरपोर्ट अभय कुमार सिंह, एस डी एम सदर राजपाल सिंह, तहसीलदार जेवर विजय शंकर मिश्रा, जेवर तहसील के समस्त लेखपालों, कर्मचारियों, मीडिया बंधु और सभ्रान्त नागरिकों ने कड़ी मेहनत कर जेवर क्षेत्र के लिए जेवर एयरपोर्ट की आश्चर्यजनक सौगात दी है। जेवर एयरपोर्ट सबसे बड़ी भूमिका उन किसानों की है जिन्होंने अपनी एयरपोर्ट के निर्माण के लिए दी है। अगर प्रशासन की मेहनत और किसानों का सहयोग नही होता तो हमारे क्षेत्र के लिए इतना खुशी का पल कभी ना आता। अब हमारे जेवर का दुनिया के नक्शे मे चमकेगा। उपरोक्त सभी के सहयोग से मुख्य रूप से युवा उपजिलाधिकारी जेवर प्रसून द्विवेदी और जेवर तहसील प्रशासन के अथक प्रयासों से क्षेत्र को यह अभूतपूर्व सौगात मिली है।

Posted by रवि चौहान on 1:59 pm. Filed under , , , , . You can follow any responses to this entry through the RSS 2.0. Feel free to leave a response

0 टिप्पणियाँ for "जिलाधिकारी गौतमबुद्धनगर, जेवर तहसील प्रशासन और जेवर विधायक की मेहनत रंग लायी, जेवर एयरपोर्ट के जमीन अधिग्रहण के लिए धारा 11 हुई लागू"

Leave a reply

सर्वाधिक पढ़ी गयी

Recently Added

Recently Commented