|

मुजफ्फरनगर में अपराधियों पर पुलिस का शिकंजा लगातार जारी।

संवाददाता‚ नबी चौधरी‚ मुजफ्फरनगर में अपराधियों पर पुलिस का शिकंजा लगातार जारी है, लेकिन वाहन चोरी की घटनाओं पर पुलिस भी अंकुश लगाने में सफल नहीं हो पा रही है। लेकिन कुछ दिनों में पुलिस चोरी की घटना का अच्छा खुलासा कर देती है। लेकिन वाहन चोरी की घटना पुलिस की लापरवाही नहीं बल्कि वाहन स्वामी की लापरवाही है। पिछले महीने से लेकर अब तक ऐसे वाहन चोरी हुए हैं। जिनमें चाबी नहीं लगती जो डायरेक्ट स्टार्ट होते हैं। कुछ माह पूर्व पुलिस ने चोरी की घटनाओं पर अंकुश लगाने के लिए एक लक्ष्य देखा था। जहां कस्बे में हुई लाखो की बड़ी लूट पुलिस ने खोल दी थी तभी पीड़ित ने पुलिस को आश्वासन दिया था कि वह सभी चौराहों पर सीसीटीवी कैमरे लगवाएंगे। लेकिन कुछ दिन पूर्व पुलिस द्वारा बड़े गुडवर्क को व्यापारी भूल गया और अपने दिए गए वादे से भी मुकर गया नहीं तो कस्बे के चौराहे पर सीसीटीवी कैमरे लगे ना ही अब कुछ याद है। वैसे तो कोई अपराध क्षेत्र में हो जाता है तो सभी राजनीतिक नेता पुलिस पर दबाव बनाते हैं कि घटना को जल्द से जल्द खोलें। पुलिस अपनी मेहनत के अनुसार घटना को बड़ी अच्छी तरह खोल देती है और अपराधियों को सलाखों के पीछे भी भेजती है। लेकिन क्या वह नेता भी ये कदम नहीं उठा सकते कि अपने सहयोग से कस्बों के सभी चौराहों पर सीसीटीवी कैमरे लगवाए जाएं। अगर कस्बों के अंदर चौराहों पर सीसीटीवी कैमरे लगे तो उससे छेड़छाड़, झगड़े, बाइक चोरी, स्केचिंग, जैसी घटनाओं पर अंकुश लगेगा। अगर हो सके तो क्षेत्रीय विधायक को कस्बे के चौराहों पर सीसीटीवी कैमरे के लिए कोई प्रस्ताव बनाना चाहिए। लेकिन कवी कहते हैं अगर इस तरह का काम किसी के सहयोग से हो भी गया तो जो नेता सुबह टोपी लगाकर घर से निकलते हैं उनकी राजनीति का क्या होगा। अगर यह चौराहों पर कैमरे पुलिस की देखरेख में लगे तो सच में ही अपराध के साथ मनचलों पर भी अंकुश लगेगा और लोग अपने आप को सीसीटीवी की नजर में सुरक्षित समझेंगे।

Posted by रवि चौहान on 6:21 pm. Filed under , , , , , . You can follow any responses to this entry through the RSS 2.0. Feel free to leave a response

0 टिप्पणियाँ for "मुजफ्फरनगर में अपराधियों पर पुलिस का शिकंजा लगातार जारी।"

Leave a reply

सर्वाधिक पढ़ी गयी

Recently Added

Recently Commented