हत्या मे वांछित आरोपी को बिसरख पुलिस ने किया गिरफ्तार

सोनू शर्मा संवाददाता, गौतमबुद्दनगर जिले के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक द्वारा वांछित अभियुक्तो के सम्बन्ध में चलाए जा रहे अभियान के तहत पुलिस अधीक्षक ग्रामीण एवं पुलिस क्षेत्राधिकारी बिसरख /ऑपरेशन के कुशल नेतृत्व में बिसरख थाना प्रभारी अजय कुमार शर्मा ने अपने पुलिस बल के साथ थाना बिसरख पर पंजीकृत मुकदमा अपराध संख्या 760/17 धारा-302/201 भादवि बनाम अज्ञात से सम्बन्धित अभियुक्त संजय यादव पुत्र अनिरुद्ध यादव निवासी ग्राम मुजाइदा खास थाना पडरौना जनपद कुशीनगर हाल पता वायु विहार छपरौला थाना बादलपुर जनपद गौतमबुद्धनगर को आज को ग्राम रोजा याकूबपुर फाटक के पास से गिरफ्तार किया गया। पुलिस पूछताछ मे अभियुक्त ने बताया कि मृतक महावीर का उससे रुपयो के लेनदेन का विवाद चल रहा था। जिसके चलते अभियुक्त संजय यादव ने 21/22 नवम्बर की रात्रि में ग्राम रोजा याकूबपुर के जंगल मे महावीर के सिर में हथोड़े से चोट मारकर हत्या कर दी थी। आरोपी की निशादेही हत्या मे प्रयुक्त हथौड़ा बरामद कर लिया गया है।आरोपी के खिलाफ आवश्यक कार्यवाही कर उसे जेल भेजा रहा है।

12:48 pm | Posted in , | Read More »

उपजिलाधिकारी और पुलिस क्षेत्राधिकारी जेवर ने चुनाव लड़ने वाले उम्मीदवारों के साथ की बैठक

सोनू शर्मा संवाददाता, जिलाधिकारी गौतमबुद्धनगर बी एन सिंह के निर्देशन में नगर निकाय सामान्य निर्वाचन 2017 की मतगणना कराने के लिए जिला प्रशासन के अधिकारी अपनी तैयारियों में जुटे हुए हैं। इसी क्रम में आज उपजिलाधिकारी जेवर राजपाल सिंह , पुलिस क्षेत्राधिकारी जेवर जगतराम जोशी तथा सम्बन्धित आर ओ के द्वारा जनता इंटर कॉलेज में चुनाव लड़ने वाले उम्मीदवारों के साथ एक महत्वपूर्ण बैठक की गई। और मतगणना के सम्बन्ध में उन्हें आवश्यक जानकारी प्रदान की गई। उसके उपरांत अधिकारियों के द्वारा मतगणना केंद्र का स्थलीय निरीक्षण करते हुए आवश्यक व्यवस्थाओं के बारे में सम्बन्धित अधिकारियों को निर्देश दिए गए।

11:35 am | Posted in , | Read More »

'मैं हाफिज सईद और लश्कर का समर्थक हूं', पाकिस्तान के पूर्व राष्ट्रपति मुशर्रफ बोले

पाकिस्तान के पूर्व राष्ट्रपति जनरल परवेज मुशर्रफ का चौंकाने वाला टेप सामने आया है. इसमें वह कह रहे हैं, 'मैं हाफिज सईद से प्यार करता हूं और लश्कर-ऐ-तैयबा का बड़ा समर्थक हूं.'रिपोर्ट के मुताबिक, वीडियो में परवेज मुशर्रफ कह रहे हैं कि हाफिज सईद लंबे समय से कश्मीर के लिए काम कर रहे हैं. उन्होंने लश्कर-ऐ-तैयबा की स्थापना की, जो कश्मीर के आवाम के लिए संघर्ष कर रहा है. लेकिन भारत ने अमेरिका के साथ मिलकर उसे आतंकवादी संगठन करार करा दिया.बता दें कि हाल ही में पाकिस्तान की एक कोर्ट ने हाफिज सईद को निर्दोष बताते हुए रिहा कर दिया है. वह इस साल जनवरी से नजरबंद था.शनिवार को व्हाइट हाउस ने बयान जारी करते हुए कहा था कि आतंकी हाफिज का इस तरह से छूट जाना इस बात का सबूत है कि पाकिस्‍तान आतंकी के खिलाफ मुकदमा चालने में विफल रहा है, जिसका फायदा सीधे तौर पर आंतकी को मिला और वह बरी हो गया.बयान में कहा गया है कि जिस तरह से आतंकी को पाकिस्‍तान की अदालत से रिहाई दी गई है, उससे अपनी धरती को आतंकवादियों के लिए पनाहगाह नहीं बनने देने और अंतरराष्‍ट्रीय आतंकवाद के खिलाफ लड़ने की बात करने वाले पाक की मंशा पर शक होने लगा है.अमेरिका ने कहा कह जब तक पाकिस्‍तान हाफिज सईद को जल्‍द से जल्‍द कानूनी प्रक्रिया के तहत बंदी नहीं बनाता और उसके अपराधों पर अंकुश नहीं लगाता तब तक दोनों देशों की रिश्‍तों को आगे नहीं बढ़ाया जा सकता है. अमेरिका ने पाकिस्‍तान को आगाह किया कि उसकी यह हरकत वैश्‍विक मंच पर पाकिस्‍तान की छवि को नुकसान पहुंचा सकती है.

5:52 pm | Posted in , , , , , | Read More »

...तो अपनी 'कजिन' से शादी करने जा रहे हैं प्रिंस हैरी!

प्रिंस हैरी और यूएस एक्ट्रेस मेगन मर्कल से शादी करने जा रहे हैं. पिछले दिनों दोनों की इंगेजमेंट हुई थी. लेकिन, आपको जानकर हैरानी होगी कि प्रिंस हैरी और मेगन मर्कल के बीच एक और रिश्ता भी है. मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, दोनों दूर के कजिन लगते हैं.मर्केल का पूरा नाम राशेल मेगन मर्कल है. इतिहासकारों के अनुसार, प्रिंस हैरी और मेगन मर्कल का 'भाई-बहन' रिश्ता राल्फ बोज नाम के शख्स से जुड़ता है. इनका जन्म 1480 में स्ट्रीटलम में हुआ था. वो डरहम काउंटी बतौर हाई शेरिफ के पद पर लंबे वक्त तक रहे. राल्फ बोज प्रिंस हैरी और मेगन मर्कल के परदादा लगते हैं. स्ट्रीटलम कैसल में राल्फ का परिवार 1480 से 1518 तक रहा.
ये है 'क्वीन मदर' का कनेक्शन
इसके बाद जॉर्ज बोज राल्फ के उत्तराधिकारी बने. जॉर्ज बोज एलिजाबेथ बोज-लियॉन के रिश्तेदार बताए जाते हैं. 1952 में एलिजाबेथ को 'क्वीन मदर' का दर्जा मिला, जब उनकी बेटी एलिजाबेथ-2 ब्रिटेन की महारानी बनी. प्रिंस हैरी का जन्म 1984 में हुआ. एलिजाबेथ-2 उनकी दादी हैं.
प्रिंस हैरी से तीन साल बड़ी हैं मेगन मर्कल
मेगन मर्कल प्रिंस हैरी से तीन साल बड़ी हैं. प्रिंस हैरी की उम्र 33 साल है, जबकि मेगन मर्कल 36 साल की हैं. मर्कल तलाकशुदा हैं. उन्होंने 2011 में हॉलीवुड एक्टर और प्रोड्यूसर ट्रेवोर एंगल्सन से शादी की थी. 2013 में दोनों का तलाक हो गया था.
प्रिंस चार्ल्स ने भी तलाकशुदा से की थी शादी
बता दें कि ब्रिटेन के राजशाही परिवार में प्रिंस हैरी पहले ऐसे शख्स नहीं हैं जो तलाकशुदा महिला से शादी करने जा रहे हैं. उनसे पहले प्रिंस चार्ल्स ने भी पर्कर बॉव्ल्स से शादी की थी, जो तलाकशुदा थीं.
चिकन भूनते हुए प्रिंस हैरी ने किया था मेगन को प्रपोज
प्रिंस हैरी ने मेगन मर्कल को शादी के लिए कैसे प्रपोज किया, इसका खुलासा उन्होंने सोमवार को किया. प्रिंस हैरी के मुताबिक, दोनों साथ में कुछ वक्त बिताने किंग्सटन पैलेस के कॉटेज में ठहरे थे. उन्होंने चिकन रोस्ट करते हुए मेगन मर्कल को प्रपोज किया था.
कॉमन फ्रेंड के जरिए हुई थी मुलाकात
बता दें कि प्रिंस हैरी और मेगन मर्कल की मुलाकात एक कॉमन फ्रेंड के जरिए हुई थी. दोनों तब एक दूसरे के बारे में सब कुछ नहीं जानते थे, लेकिन एक-दूसरे को डेट कर रहे थे. प्रिंस हैरी के मुताबिक, मर्कल से मिलने से पहले वह उनके बारे में कुछ नहीं जानते थे. वहीं, मर्कल का कहना है कि ब्रिटेन के शाही परिवार के बारे में उन्हें भी बहुत कुछ पता नहीं था. उन्होंने प्रिंस हैरी के बारे में अपने कॉमन फ्रेंड से पूछा था कि वो कैसे हैं?
इसके बाद दोनों कई मौकों पर मिले. बोत्सवाना में पांच दिन छुट्टियां भी मनाई. इस तरह एक-दूसरे के करीब आए. अब बहुत जल्द शादी करने वाले हैं.

4:21 pm | Posted in , , , , , | Read More »

क्या शादी से पहले मां बनने वाली हैं प्रिंस हैरी की मंगेतर?

हॉलीवुड एक्ट्रेस मेगन मर्कल की ब्रिटेन के राजघराने में नई मेंबर के तौर पर जल्द ही एंट्री होने वाली है. कुछ दिनों पहले उनकी प्रिंस हैरी के साथ इंगेजमेंट हुई. इसके बाद मर्कल को लेकर तरह-तरह की खबरें भी आने लगीं. सोशल मीडिया पर उनके प्रेग्नेंट होने के कयास लगाए जा रहे हैं.सोशल मीडिया पर प्रिंस हैरी और मेगन मर्कल की एक फोटो खूब शेयर की जा रही है. ये फोटो प्रिंस हैरी और मर्कल के इंगेजमेंट के ऑफिशियल अनाउंसमेंट की है. इस फोटो में मर्कल ने ड्रेस के ऊपर एक व्हाइट कोट पहन रखा है, जो उनके घुटने तक लंबा है. ऐसे कयास लगाए जा रहे हैं कि मर्कल ने कोट से अपने बेबी बंप को छिपाने की कोशिश की है. बस इसी के बाद सोशल मीडिया पर सवाल उछलने लगे-कहीं वो प्रेग्नेंट तो नहीं?ट्विटर पर कुछ यूजर्स हैरी और मर्कल की ये फोटो शेयर कर उसपर कमेंट कर रहे हैं. एक यूजर ने लिखा- 'क्या ऐसे खड़े होने से मर्कल का पेट कुछ ऐसा दिख रहा है या मर्कल प्रेग्नेंट हैं.'एक दूसरे यूजर ने लिखा- 'क्या मेगन मर्कल प्रेग्नेंट हैं?? ये एक गंभीर सवाल है.'एक अन्य यूजर ने हैरी और मर्कल की फोटो शेयर करते हुए लिखा कि मर्कल का लुक देखिए. वो प्रेग्नेंट लग रही हैं.हालांकि, कुछ यूजर्स का कहना है कि अगर मर्कल ने कोट पहना है, तो इसका ये मतलब नहीं है कि वो अपना बेबी बंप छिपाने की कोशिश कर रही हैं. ये उनका ड्रेसिंग स्टाइल हो सकता है.बहरहाल, जो भी हो, लेकिन व्हाइट कोट को लेकर मर्कल अजीब सी चर्चाओं का शिकार तो हो ही गई हैं.

4:18 pm | Posted in , , , , , | Read More »

दुनिया का कोई भी कोना तबाह कर सकती है नॉर्थ कोरिया की नई मिसाइल

उत्तर कोरिया ने बुधवार तड़के अपनी सबसे ताकतवर मिसाइल का टेस्ट किया. दक्षिण कोरियाई सेना ने
बताया कि यह मिसाइल 53 मिनट तक आसमान में रही और करीब 960 किमी दूर जाकर गिरी.नॉर्थ कोरिया का दावा मानें तो इस दौरान यह 4,500 किलोमीटर की ऊंचाई तक गई, जो कि अंतरराष्ट्रीय स्पेस स्टेशन से 10 गुना ज्यादा है. इस लिहाज से देखें तो यह इंटरकॉन्टिनेंटल बैलिस्टिक मिसाइल (आईसीबीएम) थी और जानकारों के मुताबिक, यह दुनिया के किसी कोने तक मार कर सकती है.वहीं उत्तर कोरियाई तानाशाह किम जोंग-उन ने इस मिसाइल परीक्षण की पुष्टि करते हुए कहा कि उसनेएक नई बैलिस्टिक मिसाइल ह्वासोंग-15 का सफल परीक्षण किया है, जिसकी जद में 'पूरा अमेरिकी महाद्वीप' आ सकता है.जापान के प्रधानमंत्री शिंजो आबे ने इस ताजा मिसाइल परीक्षण को 'हिंसक कृत्य' करार दिया है. उन्होंने कहा कि इसे बर्दाशत नहीं किया जा सकता. इसके साथ उन्होंने तुंरत संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद की बैठक बुलाने की मांग की है.मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, अमेरिका ने भी जापान की इस मांग का साथ देते हुए तत्काल सत्र बुलाने की मांग की है. जिस पर संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद भी आपात सत्र बुलाने पर सहमत हो गया है.अमरीकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने किम जोंग-उन के इस कदम पर कड़ी आपत्ति जताई है और हालात से निपटने का भरोसा दिलाया है. ट्रंप ने पत्रकारों से कहा, 'उत्तर कोरिया की तरफ से थोड़ी देर पहले मिसाइल दागी गई. मैं आपको बताना चाहता हूं कि हम हालात पर काबू पा लेंगे. हमने जनरल मैटिस से इस पर लंबी चर्चा की है. हम इस स्थिति से निपट लेंगे.' वहीं रक्षा मंत्री जेम्स मैटिस ने इस बैलिस्टिक मिसाइल को दुनिया के लिए ख़तरा बताया है. मैटिस ने आशंका जताई कि उत्तर कोरिया संभवत: ऐसी मिसाइलें विकसित कर रहा है, जो 'दुनिया में कहीं भी' मार करने में सक्षम होंगी.मैटिस ने कहा कि दो महीने की शांति के बाद प्योंगयांग ने जिस आईसीबीएम का प्रक्षेपण किया, वह पहले की सभी मिसाइलों से कहीं ज्यादा ऊंचाई तक गया. मैटिस ने मीडिया से कहा, 'उत्तर कोरिया ने आईसीबीएम मिसाइल दागी, जिसने उसके द्वारा पहले दागी गई सभी मिसाइलों से अधिक ऊंची उड़ान
भरी.

4:05 pm | Posted in , , , , , | Read More »

असली दाऊद से भी ज्यादा खतरनाक था 'गुजरात का दाऊद'

आजाद भारत के आखिरी तीन दशकों की सर्दियां बेहद ही खतरनाक रही हैं. इनके दौरान कई दंगे हुए, प्राकृतिक आपदाएं आईं. आतंकवादी हमले हुए. ऐसे में कुछ सालों से अपराध और त्रासदी का डर अक्सर नए साल की आमद के पहले भारतीयों को जकड़ लेता है. इन्हीं दो-तीन महीनों में कई चर्चित हस्तियों का जन्मदिन और बरसी भी देश मनाता है. अच्छी और बुरी घटनाओं से भरे इन महीनों में 29 नवंबर भी विशेष मायने रखता है क्योंकि इसी दिन गुजरात पुलिस ने डॉन अब्दुल लतीफ़ को मार गिराया था.अब्दुल लतीफ को यूं तो 'गुजरात का दाऊद इब्राहिम' भी कहा जाता था. पर देखें तो वो दाऊद से ज्यादा खतरनाक था. दाऊद ने अक्सर अपने काले कारोबार में मुनाफे के लिहाज से हिंसा और भय का इस्तेमाल बहुत सोच-समझकर किया है पर लतीफ़ इतना सोचता नहीं था, वह इमोशनल ज़्यादा था. इसी वजह से कहीं ज्यादा खतरनाक भी. यही नहीं उसने दाऊद को मारने के एकाधिक प्रयास भी किए. हालांकि बाद में दाऊद ने बिजनेस के नुकसान के चलते उसे माफ कर हाथ मिला लिया था.शायद इमोशनल होना ही वह वजह रही कि जब दाऊद, आज भी दुबई और पाकिस्तान के बीच कई काले-सफेद कारोबारों में शामिल है, अब्दुल लतीफ इस दुनिया से दो दशक पहले ही विदा हो चुका है. हालांकि अब तक लतीफ़ के ऊपर दो फिल्में आ चुकी हैं. 2014 में आई 'लतीफ़: द किंग ऑफ क्राइम' और 2017 में आई 'रईस' पर फिर भी लतीफ़ के बारे में काफी कुछ कहा जाना बाकी है.लतीफ़ चीज क्या रहा होगा, इसका अंदाजा इसी से लगाइए कि 'रईस' में लतीफ़ का किरदार खुद शाहरुख  खान ने निभाया था. हालांकि फिल्म निर्माताओं ने एक बयान में ये भी कहा था कि फिल्म पूरी तरह से लतीफ़ पर केंद्रित नहीं है, इसमें उसकी जिंदगी के कुछ ही हिस्से लिए गए हैं. वैसे पिछले दिनों एक कार्यक्रम में मुझे दिल्ली के भूतपूर्व कमिश्नर और लंबे वक्त तक सीबीआई से भी जुड़े रहे नीरज कुमार को सुनने का मौका मिला, जो फिल्म निर्माताओं के अधकचरे रिसर्च की आलोचना कर रहे थे.नीरज कुमार ने 'डायल डी फॉर डॉन' नाम की एक किताब भी लिखी है. जो उनके सीबीआई से जुड़े ऑपरेशनों की गाथा है. नीरज इस किताब में लतीफ़ को पकड़ने का जिक्र भी करते हैं. इस लेख में पढ़िए कि आज इतिहास में दफन लतीफ़ दरअसल किरदार क्या था और जानिए वह रोमांचक किस्सा जब नीरज कुमार ने लतीफ़ को अचानक से पकड़कर पूरी दुनिया भर में धूम मचा दी थी. ये किस्सा आपको ये तसल्ली भी देगा कि भले ही फिल्मों का प्रसिद्ध डायलॉग हो, 'पुलिस हमेशा घटना के बाद पहुंचती है' पर नीरज कुमार और उनकी टीम ने सही टाइमिंग का जो खेल रचाया था वो आज भी भारतीय अपराध जगत में एक मिसाल बना हुआ है.
पढ़ाई-लिखाई के अभाव में अपराध ही जल्दी पैसे कमाने का जरिया बना
अब्दुल लतीफ 24 अक्टूबर, 1951 को कालूपुर में पैदा हुआ था. कालूपुर अहमदाबाद का एक मुस्लिम बहुल इलाका है. उसका परिवार बहुत गरीब था. बाप अब्दुल वहाब शेख तम्बाकू बेचता था. उसी से सात बच्चों का पेट पलता था. ऐसे में लतीफ स्कूल से आगे पढ़ नहीं पाया. और अपने पिता की उनके कारोबार में मदद करने लगा. उसे रोजाना मेहनताने के दो रुपए मिलते थे. वह बाप से और पैसे मांगता था. जिसके चलते दोनों में रोज झगड़ा होता था. बीस बरस की उम्र में उसकी शादी हो गई. जिससे उसकी जरूरतें और बढ़ गईं. ऐसे में उसने खुद का धंधा करने का सोचा. उसे कोई ढंग का काम नहीं मिला. इसलिए वह अल्लाह रक्खा नाम के एक छोटे क्रिमिनल के साथ हो लिया. अल्लाह रक्खा अवैध शराब का व्यापार करता था. और साथ में जुए का अड्डा भी चलाता था
एक मामूली जुआरी इलाके का सबसे बड़ा गुंडा बना
इसी बीच उसके टैलेंट को पहचाना मंजूर अली ने. मंजूर अली अल्लाह रक्खा का प्रतिद्वंदी था. पर उसने अच्छा मेहनताना दिया. लतीफ उसके अड्डे का सुपरवाइजर बन गया. दो-तीन साल बाद लतीफ पर पैसा चोरी करने का आरोप लगा. और उसने मंजूर अली का अड्डा छोड़ दिया. वह खुद अब अवैध शराब के धंधे में आ गया. गुजरात में शराब तब भी प्रतिबंधित थी, आज भी है. ऐसे में तमाम तिकड़म भिड़ाकर जो गैंग पड़ोसी राज्यों से शराब को गुजरात लाता था, उसे अच्छा मुनाफा होता था. ऐसे में लतीफ भी ऐसे एक गैंग का सक्रिय सदस्य हो गया. लतीफ के अंदर हमेशा से हिंसा के प्रति रुझान था. जिसका सहारा लेकर वह तेजी से बढ़ा. और जल्द ही खुद एक बड़े गिरोह का मुखिया बन गया. हत्या, फिरौती के लिए अपहरण, धमकाकर वसूली जैसे कई गोरखधंधे करने लगा.
अंडरवर्ल्ड लतीफ के पास खुद चलकर आया
अहमदाबाद में एक रोज उसकी मुलाकात मुंबई के पठान गिरोह के दो लोगों से हुई. जिनके नाम अमीन खान, नवाब खान और आलम खान जंगरेज़ खान थे. लतीफ को इनसे पता चला कि पठानों का दाऊद से झगड़ा है. झगड़े की वजह है सोने की एक खेप. जिसके चलते पठानों ने 1981 में दाऊद के बड़े भाई सबीर इब्राहिम को मार दिया था. लतीफ ने दोनों को पनाह दी. और इस तरह वह पठान गिरोह से जुड़ा और अंडरवर्ल्ड का हिस्सा हो गया. पठान गिरोह के मुखिया आलमज़ेब और अमीरज़ादा दो भाई थे. इसके बाद लतीफ भी दाऊद का दुश्मन हो गया था. उसकी और दाऊद की मुठभेड़ के किस्से चर्चित रहे हैं.एक ऐसी ही घटना उस वक्त की है, जब दाऊद कोफेपोसा (तस्करी-विरोधी कानून) में जेल में था. उसे अहमदाबाद की साबरमती सेंट्रल जेल में रखा गया था. पेशी के लिए उसे बड़ौदा की अदालत ले जाया जाता था. पुलिस वालों ने ले-देकर उसे रास्ते में एक होटल में सुस्ताने और मन बहलाने की छूट दे रखी थी. लतीफ को दाऊद के पेशी पर जाने की खबर मिली. रास्ते में ही पुलिस की गाड़ी रोककर लतीफ के गुर्गों ने फायरिंग शुरू कर दी. उनके जाने के बाद गाड़ी में छिपा दाऊद तो बच गया था. पर उसके दो गुर्गे बुरी तरह घायल हो गए थे. इसके बाद दोनों के बीच खूनी गैंगवार शुरू हो गया. दाऊद पर हमले का बदला उसके शूटर डेविड परदेसी ने लिया. उसने सितंबर, 1983 में मुंबई की एक अदालत के बाहर अमीरज़ादा को मार दिया. कुछ दिन बाद डेविड को भी अहमदाबाद में लतीफ़ के शूटर शरीफ़ खान ने मार दिया.
लतीफ़ ने बचने के लिए पॉलिटिक्स का रास्ता चुनना चाहा
लतीफ़ के धंधे और इस गैंगवार के खून-खराबे के चलते इलाके में उसका आतंक था. साथ ही जरूरतमंदों और गरीबों की मदद करके उसने इलाके में रॉबिनहुड जैसी छवि बना रखी थी. ऐसे में 1987 में जब वह जेल में बंद था, उसने चुनाव लड़ने की ठानी. उसने पांच वार्डों से अहमदाबाद नगरपालिका का चुनाव लड़ा. और पांचों वार्डों से जीत गया. आठवें दशक के आखिरी सालों के आते-आते उसे 'गुजरात का दाऊद इब्राहिम' कहा जाने लगा था. दोनों ओर से खूनी गैंगवार के चलते कारोबार खराब होने से दाऊद को निराशा थी. ऐसे में नवंबर, 1989 में लतीफ़ को दाऊद की ओर से एक पैगाम मिला. दाऊद ने उसे गुर्गों समेत दुबई आने का न्यौता दिया था. यह एक शांति का प्रयास था.दुबई पहुंचने पर दोनों को कुरान के सामने एक मौलवी ने दोस्ती की कसम दिलाई. दाऊद ने लतीफ़ से अवैध शराब का धंधा बंद कर सोने की तस्करी करने को कहा. लतीफ़ कुख्यात तस्कर 'मामूमिया पंजूमिया' के साथ तस्करी में लग गया. लतीफ़ अब और ज्यादा हिंसक और खतरनाक हो चुका था.
राधिका जिमखाना कांड ने लतीफ़ को बनाया बर्बरता का प्रतीक
इसी बीच शाहजादा नाम के मुंबई के एक गुंडे से लतीफ़ की दुश्मनी हो चुकी थी. एक रोज लतीफ़ को शराब कारोबारी हंसराज त्रिवेदी के बारे में ये पता चला कि उसने शहजादा को अपने यहां पनाह दी है. 3 अगस्त, 1992 को एक खुफिया सूचना के आधार पर लतीफ़ ने बंदूकधारियों का एक दल अहमदाबाद के ओधव इलाके में राधिका जिमखाना भेज दिया. जहां हंसराज अपने आठ दोस्तों के साथ ताश खेल रहा था. लतीफ़ के गुर्गे हंसराज को पहचान नहीं पा रहे थे. यह बात जब उन्होंने लतीफ़ को बताई तो लतीफ़ ने वहां मौजूद सारे लोगों को मारने का आदेश दे दिया. एके- 47 से तड़ातड़ गोलियां चलाकर की गई इन नौ लोगों की बर्बर हत्या ने सारे गुजरात को ही नहीं बल्कि देश को भी हिला दिया.गोलियां मारने वाले गिरफ्तार हुए. पूछताछ में उन्होंने लतीफ़ का नाम भी ले लिया. लतीफ़ को अब फरार होना पड़ा. लतीफ़ ने बहुत हाथ-पैर मारे और राजनीतिक संरक्षण के प्रयास किए पर कोई फायदा नहीं हुआ. रऊफ वलीउल्लाह नाम के एक भूतपूर्व राज्यसभा सांसद उसके राजनीतिक संरक्षण में सबसे बड़ी बाधा बन रहे थे. ऐसे में लतीफ को दाऊद का साथ मिला. जिसने उसे दुबई बुला लिया. इसके बाद लतीफ़ ने रऊफ वलीउल्लाह को भी दिनदहाड़े मरवा दिया. और इस तरह लतीफ़ से जुड़े किसी केस की जांच पहली बार सीबीआई को सौंपी गई.
मुंबई बम धमाकों में भी लतीफ़ का हाथ था
इसके बाद लतीफ़ कराची में रहने लगा. जहां वो सोने-चांदी के तस्कर तौफ़ीक जल्लियांवाला का मेहमान था. यहीं टाइगर और दाऊद के साथ मिलकर उसने भी मुंबई बम धमाकों की योजना बनाई. 9 जनवरी, 1993 को महाराष्ट्र के दिघी पोर्ट पर पहुंची हथियारों और गोला-बारूद की खेप उठाने और उसे षड्यंत्रकारियों तक उसे पहुंचाने का काम लतीफ़ का ही था. संजय दत्त तक पहुंचे हथियार और गोलाबारूद इसी खेप का हिस्सा थे. नीरज कुमार अपनी किताब 'डायल डी फॉर डॉन' में लिखते हैं कि जब मुंबई में 12 धमाकों की खबर कराची पहुंची तो तीनों ने मिलकर इसका जश्न मनाया था.
'अईसा क्या?' के तकिया-कलाम ने करवा दिया लतीफ़ का अंत
सभी समझते थे कि लतीफ़ अभी भी कराची में है. इसी बीच 22 सितंबर, 1995 को गुजरात एटीएस को अहमदाबाद के दो व्यापारियों ने बताया कि लतीफ़ उन्हें धमका रहा है. एटीएस ने सीबीआई की मदद मांगी. कई दिनों की जांच के बाद पता चला कि लतीफ़ दिल्ली के 'चूड़ीवालान' इलाके के पास से फोन कर रहा है. काफी मेहनत-मशक्कत के बाद एक कॉल रिकार्ड की सुविधा का इंतजाम पुलिस कर सकी. ये वह वक्त था जब भारत में मोबाइल नहीं आए थे. इसके बाद एक रोज चूड़ीवालान के उस फोन बूथ से पुलिस वालों ने उदयपुर में किसी से बात कर रहे एक व्यक्ति को सुना. पुलिस को उसकी आवाज लतीफ़ जैसी लगी. पुलिस को अभी शक हो ही रहा था कि बात कर रहे आदमी ने किसी बात के बीच में कहा, 'अईसा क्या?'पुलिस को अब किसी सुबूत का इंतजार नहीं था. ये लतीफ़ का ही तकिया कलाम था. वायरलैस पर फोन बूथ के पास खड़े पुलिस वालों को खबर की गई. पुलिस वालों ने दौड़कर उसे पकड़ने की कोशिश की. लतीफ़ ने भिड़ने की कोशिश की पर पुलिस वालों ने उसे जकड़ लिया. नीरज कुमार अपनी किताब में लिखते हैं, लतीफ़ को उस तंग इलाके के बीच से कोई दो फर्लांग तक लोगों के सामने से घसीटते हुए पुलिस के वाहन तक ले जाया गया और फिर वाहन में लादकर दरियागंज के एसीपी के ऑफिस ले जाया गया.जेल जाने के बाद 29 नवंबर, 1997 को दो साल बाद एक एनकाउंटर में लतीफ़ भागते वक्त मारा गया. तब वह नरोदा रेलवे क्रासिंग के पास पुलिस को धोखा देकर भाग रहा था. जितनी तेजी से गुजरात का दाऊद लतीफ़ अपराध जगत की ऊंचाईयों पर पहुंचा था, उतनी ही तेजी से नीचे भी आया. लतीफ़ केस भारतीय पुलिस की जाबांजी की एक बेहतरीन कहानी है, जो भारतीय पुलिस में फिर से विश्वास तो पैदा करती है. पर भारत जैसे देश को गरीबी और बदहाली में बड़े अरमानों वाले युवाओं के लिए अवसर सृजन के लिए चेतावनी भी देती है ताकि फिर लतीफ़ पैदा न हों.

3:59 pm | Posted in , , , , , | Read More »

कनाडा के प्रधानमंत्री ने LGBTQ के साथ हुए व्यवहार के लिए माफी मांगी

कनाडा के प्रधानमंत्री जस्टिन ट्रूडो ने शीत युद्ध के दौरान सेना एवं सार्वजनिक सेवा के हजारों कर्मियों के खिलाफ सरकार द्वारा की गयी कार्रवाई के लिए एलजीबीटीक्यू समुदाय के लोगों से माफी मांगी है.ट्रूडो ने मंगलवार को संसद में एक भाषण में कहा कि 1950 से 1990 के दशक की शुरुआत तक संघीय सरकार ने एलजीबीटीक्यू (लेस्बियन, गे, बाइसेक्सुअल, ट्रांसजेंडर, क्वीर) समुदायों के लोगों एवं संदिग्ध लोगों के खिलाफ दमनकारी अभियान चलाया था. उन्होंने कहा कि आज यह सोच है कि सभी गैर हेट्रोसेक्सुअल कनाडाई कनाडा के दुश्मनों द्वारा ब्लैकेमेल के बढ़ते खतरे के निशाने पर होंगे.प्रधानमंत्री ने कहा, ‘‘यह उन लोगों के लिए भयावह है जिन्हें सरकार अपराधी की संज्ञा दे चुकी है - वे लोग जो अपनी आजीविका खो चुके हैं और कई मामलों में जान भी.’’ ट्रूडो ने शीतयुद्ध काल के बाद के मामलों को लेकर कहा, ‘‘हमने पहले जो किया उसके लिए शर्म, दुख और गहरे अफसोस के साथ मैं आज यहां यह कहता हूं कि हम गलत थे. हम माफी मांगते हैं. मैं माफी मांगता हूं. हमें दुख है.’’ उन्होंने खड़े होकर लोगों का अभिवादन करते हुए कहा, ‘‘राज्य प्रायोजित व्यवस्थित दमन एवं अस्वीकृति के लिए हम माफी मांगते हैं.’’ सरकार ने साथ ही सेना एवं दूसरी संघीय एजेंसियों के हजारों पीड़ित कर्मियों के लिए 7.8 करोड़ डॉलर से ज्यादा के मुआवजे की भी घोषणा की.

3:55 pm | Posted in , , , , , | Read More »

अब गंगा सफाई का ज़िम्मा संभालेंगे ब्रिटेन में बसे भारतीय कारोबारी

गंगा की सफाई के काम में अब भारतवंशियों की ब्रिटिश कंपनियां भी शरीक होंगी. लंदन पहुंचे केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने बताया कि वेदांता कंपनी के प्रमुख अनिल अग्रवाल ने पटना रिवरफ्रंट को गोद लिया है. वहीं फॉरसाइट समूह के रवि मेहरोत्रा ने कानपुर के रिवरफ्रंट की देखरेख का ऑफर दिया है.सड़क परिवहन एवं राजमार्ग के अलावा जल संसाधन एवं नदी विकास मंत्रालय का जिम्मा संभाल रहे गडकरी ने कहा, "पटना में पले-बढ़े अनिल अग्रवाल ने वहां गंगा रिवरफ्रंट का जिम्मा लिया है. वहीं मूलत: कानपुर से ताल्लुक रखने वाले रवि मेहरोत्रा वहां के रिवरफ्रंट की देखरेख करेंगे."लंदन में इंडियन जर्नलिस्ट्स एसोसिएशन के एक समूह को संबोधित करते हुए गडकरी ने कहा, "हमारे पास गंगा सफाई से जुड़ी परियोजना के लिए काफी अच्छी योजना है, जिसके तहत 15 साल के रख-रखाव के आधार पर परियोजनाएं दी जा रही हैं. हालांकि कंपनियां चाहें तो वे इनमें जरूरी बदलाव कर सकती है."गडकरी ने कहा, "सरकार की योजना प्रदूषण की रोकथाम के लिए इन रिवरफ्रंट पर 10 करोड़ पेड़ लगाने की है. हम गंगा तट को पर्यटन की दृष्टि से विकसित करने की योजना पर काम कर रहे हैं."गडकरी ने इसके साथ ही कहा, "हमारे पास गंगा और उसकी 20 सहायक नदियों के लिए खास टेक्नोलॉजी के इस्तेमाल के साथ काफी अच्छी योजना है. हमारा विचार गंगा के साथ भावनात्मक जुड़ाव वाली विभिन्न कंपनियों को जिम्मेदारियां देनी है."गडकरी ने कहा कि नमामि गंगे से जुड़े 95 प्रोजेक्ट्स में से 25 पर काम शुरू हो चुका है और बाकी बची परियोजनाओं की निविदा भी मार्च 2018 के अंत तक शुरू हो जाएंगी. इसके अलावा कर्नाटक और तमिलनाडु में पानी की कमी का संकट दूर करने को लेकर गोदावरी नदी का अतिरिक्त पानी इस्लेमाल में लाने के लिए नदी जोड़ने की महत्वाकांक्षी परियोजना पर भी काम जारी है.

3:51 pm | Posted in , , , , , | Read More »

ऋतिक रोशन ने यामी से कहा- मुबारक हो!

बॉलीवुड यामी गौतम आज अपना जन्मदिन मना रही हैं. उनके जन्मदिन के मौके पर बॉलीवुड के कई लोगों ने उन्हें विश किया है. 'काबिल' फिल्म उनके को-स्टार रह चुके ऋतिक रोशन ने भी उन्हें बधाई दी है. बता दें कि फेयर एंड लवली की ऐड गर्ल के रूप में फेमस यामी गौतम आज 31 साल की हो गई हैं.ट्विटर पर यामी को जन्मदिन की बधाई देते हुए ऋतिक ने लिखा, 'जन्मदिन मुबारक डियर यामी गौतम. मुझे उम्मीद है कि यह जीवन आपको यूं ही सरप्राइज करता रहेगा.
आशा है कि आप कभी भी इसके बारे में सोचने के लिए संघर्ष नहीं करेंगी. जैसे आप हमेशा करती हैं. मेरी तरफ से खूब सारा प्यार.'







इस पर यामी ने रिप्लाई करते हुए कहा, ' थैंक यू! ऋतिक,  तुम्हारी कामना और प्यार के लिए.बता दें कि ऋतिक रोशन और यामी गौतम ने रिवेंज ड्रामा फ़िल्म 'काबिल' में एक साथ कम किया था.तब से दोनों एक्टर्स के बीच अच्छी दोस्ती हो गई ही. इस दोस्ती की झलक ट्विटर पर साफ़ झलक रही है.इसके अलावा भी ऋतिक-कंगना विवाद पर ऋतिक की साइड लेते हुए यामी ने सोशल मीडिया पर भी लिखा था.

6:30 pm | Posted in , , , , , , | Read More »

शाहरुख अपने बच्चों को नहीं देखने देते हैं 'कल हो ना हो', ये है वजह

अक्सर हम कहते हैं कि इतना वक्त बीत गया, पता ही नहीं चला. कुछ यादें भी इसी तरह सामने आती हैं और हम कहते हैं पता ही नहीं चला.शाहरुख खान की फिल्म कल हो ना हो को हो के साथ भी कुछ ऐसा ही है. इस फिल्म को आज 14 साल पूरे हो गए हैं. इसे लेकर फिल्म के निर्देशक करण जौहर काफी भावुक हैं.'कल हो ना हो ' 14 साल पहले 28 नवंबर 2003 को रिलीज हुई थी. अब ये हिंदी सिनेमा की एक क्लासिक फिल्म बन चुकी है. बताया जाता है कि फिल्म की एंडिंग देखकर थियेटर में बैठे ज्यादातर लोग रो पड़े थे.वो सीन तो आपको भी याद ही होगा, जब अमन आखिरी सांसें लेता हैं.हालांकि ये बात शायद आपको ना मालूम हो कि फिल्म की सैड एंडिंग को लेकर शाहरुख खुद भी काफी भावुक हैं. शाहरुख कभी अपने बच्चों को इस फिल्म की एंडिंग नहीं देखने देते हैं.साल 2015 में खुद शाहरुख ने ये खुलासा किया था कि वो अपने बच्चों को इस फिल्म की एंडिंग नहीं देखने देते हैं. करण जौहर ने शाहरुख के बच्चों के लिए फिल्म को अलग से एडिट करवाया है, जिसकी एंडिंग में शाहरुख उड़ते हुए दिखते हैं.फिल्म के 14 सालों को याद करते हुए करण जौहर ने ट्वीट भी किया है. उन्होंने लिखा है कल हो न हो के 14 साल...एक फिल्म जो पापा से बहुत गहराई से जुड़ी हुई है. एक ऐसी याद जो दिल तोड़ने वाली भी है और जिससे दिल भर भी आता है.

6:24 pm | Posted in , , , , , , | Read More »

वोटरलिस्ट में गड़बड़ी से नाराज सपा प्रतिनिधिमंडल ने राज्य निर्वाचन आयुक्त को सौंपा ज्ञापन

यूपी नगर निकाय चुनाव में भारी तादाद में वोटरों के नाम ना होने पर समाजवादी पार्टी ने कड़ा एतराज जताया है. इसी कड़ी में मंगलवार को समाजवादी पार्टी 5 सदस्यीय प्रतिनिधिमंडल दल ने राज्य निर्वाचन आयुक्त से मिला और उन्हे अपना ज्ञापन सौंपा.सपा के प्रतिनिधिमंडल दल ने निर्वाचन आयुक्त एस के अग्रवाल से कहा कि जिस तरह से पूरे मोहल्ले के नाम वोटर लिस्ट से गायब मिले हैं. यह लोकत्रंत के लिए काफी घातक है. प्रतिनिधिमंडल दल में सपा के राष्ट्रीय सचिव राजेन्द्र चौधरी, सपा प्रदेश अध्यक्ष नरेश उत्तम पटेल,एमएलसी एसआरएस यादव,एमएलसी अऱविंद सिंह और राज्यसभा सांसद संजय सेठ शामिल रहे.बता दें, कि मतदान 26 नवंबर को सुबह 7.30 बजे से शाम 5 बजे तक 4056 मतदान केंद्रों के 13,776 बूथों पर होगा. इसमें 1 करोड़ 29 लाख 2 हजार 689 मतदाता वोट डालेंगे. इनमें 69 लाख 37 हजार 469 पुरुष व 59 लाख 65 हजार 220 महिलाएं हैं. वहीं यूपी में तीन चरणों में 22, 26 और 29 नवम्बर को चुनाव हो रहे है. जबकि वोटों की गिनती 1 दिसंबर को होगी.

6:20 pm | Posted in , , , , , , | Read More »

निकाय चुनावः अंतिम चरण में दांव पर दिग्गजों के साख, कल होने हैं मतदान

यूपी नगर निकाय चुनाव अब अंतिम पड़ाप पर पहुंच चुकी है. बुधवार को निकाय चुनाव के तीसरे और अंतिम चरण में सूबे के 26 जिलो में मत डाले जाएंगे, जिसमें बीजेपी के कई दिग्गज नेताओं की प्रतिष्ठा दांव पर लगी है.विधानसभा चुनाव में भारी बहुमत से जीतकर सत्तासीन हुई योगी सरकार को तीसरे चरण के चुनाव में कई सीटों पर कड़ी टक्कर मिलने के अनुमान लगाए जा रहे हैं. यही कारण है कि निकाय चुनाव की कमान खुद सूबे के मुखिया आदित्यनाथ योगी ने संभाल ली है.रिपोर्ट के मुताबिक तीसरे और अंतिम चरण में सिर्फ सीएम योगी आदित्यनाथ, डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्या और दिनेश शर्मा की ही नही, बल्कि केन्द्रीय मंत्री उमा भारती, संतोष गंगवार, सत्यापाल सिंह, साध्वी निंरंजना ज्योति समेत बीजेपी, सपा और कांग्रेस के कई दिग्गजों की भी प्रतिष्ठा दांव पर लगी है, क्योंकि इन दिग्गजों के जिलों में तीसरे चरण के तहत होने हैं.झांसी से सांसद केन्द्रीय मंत्री उमा भारती, बरेली से सांसद केन्द्रीय मंत्री संतोष गंगवार, फिरोजाबाद से सांसद मंत्री राजेश अग्रवाल के गृहनगर में बुधवार को मतदान होने है जबकि सांसद सपा नेता प्रो. राम गोपाल यादव के बेटे अक्षय यादव के संसदीय नगर सहारनपुर, योगी सरकार में मंत्री सुरेश राणा, मंत्री धर्म सिंह सैनी के गृहनगर में तीसरे चरण में मत डाले जाएंगे.वहीं, मंत्री भूपेन्द्र चौधरी और केन्द्रीय मंत्री सत्यपाल सिंह के संसदीय क्षेत्र बागपत, बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष महेन्द्र नाथ पांडे का संसदीय क्षेत्र चंदौली, केन्द्रीय मंत्री साध्वी निरंजना ज्योति के संसदीय क्षेत्र फतेहपुर, पूर्व मुख्यमंत्री कल्याण सिंह के बेटे राजवीर सिंह के संसदीय क्षेत्र एटा, कांग्रेस राष्ट्रीय अध्यक्ष सोनिया गांधी के संसदीय क्षेत्र रायबरेली, पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव की पत्नी डिंपल यादव के संसदीय क्षेत्र कन्नौज में कल मतदान होना है.

6:18 pm | Posted in , , , , | Read More »

सीतापुर: सीसीटीवी में कैद हुए मोबाइल चोर

सीतापुर में एक मोबाइल शॉप का शटर तोड़कर चोरों ने नगदी समेत करीब 8 लाख के मोबाइलों पर हाथ साफ़ कर दिया. चोरी की यह वारदात दुकान में लगे सीसीटीवी में कैद हो गई. पुलिस ने सीसीटीवी फुटेज के जरिये चोरों की तलाश शुरू कर दी है.बता दें, कि चोरी की यह वारदात शहर कोतवाली इलाके के लालबाग पर स्थित मोबाइल शॉप की है. यहां बीती रात करीब 4 बजे तीन चोर दुकान का शटर तोड़कर अंदर दाखिल हो गये. दुकान के अंदर पहुंचते ही चोरों ने वहां लगे सीसीटीवी कैमरे मोड़ दिए और काउंटर में रखी 1 लाख की नगदी और करीब 7 लाख के मोबाइलों पर हाथ साफ़ कर दिया.दुकान के अंदर चोरी की यह वारदात सीसीटीवी के कैमरे में कैद हो गयी. घटना की जानकारी मिलते ही मौके पर पहुंची पुलिस ने डॉग स्क्वायड और फिंगर प्रिंट टीम की मदद से पुलिस पड़ताल में जुट गयी है. फिलहाल पुलिस मामले की जांच कर रही हैं.

6:16 pm | Posted in , , , , | Read More »

'पद्मावती' विवाद: मधुर भंडारकर ने की CM योगी से मुलाकात

फिल्म निर्देशक मधुर भंडारकर ने मंगलवार को लखनऊ के एनेक्सी में सीएम योगी आदित्यनाथ से मुलाकात की. बताया जा रहा है कि 30 मिनट की इस मुलाकत के दौरान भंडारकर ने सीएम योगी से यूपी में 'पद्मावती फिल्म को बढ़ावा देने के मुद्दे पर चर्चा की है.बता दें कि संजय लीला भंसाली की फिल्म 'पद्मावती' का देशभर में विरोध चल रहा है. यूपी में फिल्म को लेकर लगातार विरोध जारी है. इससे पहले यूपी के डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य ने भी ​'पद्मावती' फिल्म का विरोध किया था. उन्होंने कहा था कि जब तक पद्मावती फिल्म के विवादित हिस्से को नहीं निकाला जाएगा, तब तक हम यूपी में फिल्म को रिलीज होने नहीं देंगे.गौरतलब है कि शामली जनपद के गांव हरड़ में राजपूत ( ठाकुर) समाज के लोगों ने फिल्म पद्मावती रिलीज होने पर सिनेमाघरों में आगजनी करने की बात कही थी.वहीं राजपूत समाज ने संजय लीला भंसाली का सिर काटने वाले को 2 करोड़ रुपये के इनाम की घोषणा की हैं. इसी विवाद के बीच फिल्म के रिलीज की तारीख को आगे बढ़ा दी गई है. देश भर में इस फिल्म को लेकर हो रहे विरोध को देखते हुए मध्य प्रदेश और गुजरात में इस फिल्म के प्रदर्शन पर रोक लगा दी है.

6:14 pm | Posted in , , , , | Read More »

1 दिसम्बर को गौतमबुद्धनगर जिले मे होने वाली निकाय चुनाव की मतगणना के सम्बन्ध मे अधिकारियों ने लिया प्रशिक्षण


सोनू शर्मा संवाददाता, नगरीय निकाय सामान्य निर्वाचन 2017 से सम्बन्धित मतगणना पर्यवेक्षक, मतगणना सहायक, आर ओ, ए, आर ओ  का प्रशिक्षण गौतमबुद्ध बालक इंटर कॉलेज में आयोजित किया गया। प्रशिक्षण के समय जिलाधिकारी बी एन सिंह ने कहा कि मतगणना का कार्य प्रत्येक दशा में निष्पक्षता और तटस्थता के साथ मतगणना अधिकारी सुनिश्चित करेंगे। किसी भी दशा में किसी भी व्यक्ति को मतगणना के दौरान गड़बड़ी फैलाने का मौका नहीं दिया जाएगा। गड़बड़ी फैलाने वाले के खिलाफ कानून के अनुसार कठोरतम कार्यवाही की जाएगी। उन्होंने कहा कि मतगणना अधिकारी आपसी टीम भावना के साथ कार्य करें। समय से मतगणना स्थल पर पहुंचे। ए डी एम प्रशासन कुमार विनीत ने बताया कि दादरी नगर पालिका की मतगणना मिहिरभोज इंटर कॉलेज में 25 टेबल पर होगी।दनकौर और बिलासपुर की मतगणना किसान आदर्श इंटर कॉलेज में की जायेगी। बिलासपुर की मतगणना 5 टेबल पर और दनकौर नगर पंचायत की मतगणना 5 टेबल पर की जाएगी।नगरपंचायत जेवर, रबूपुरा और जहागीरपुर की मतगणना जनता इंटर कॉलेज में होगी। जेवर के लिए 12 टेबल, रबूपुरा के लिए 5 टेबल और जंहागीरपुर के लिये 5 टेबल पर होगी। प्रत्येक टेबल पर एक मतगणना पर्यवेक्षक औऱ 03 मतगणना सहायक होंगे।भारत निर्वाचन आयोग  के मास्टर ट्रेनर शैलेन्द्र भाटिया ने पावर पॉइंट प्रेजेंटेशन के माध्यम से मतगणना पर्यवेक्षक, मतगणना सहायक, आर ओ, ए आर ओ के द्वारा संपन्न किए जा रहे कार्यों के सम्बन्ध में विस्तार पूर्वक बताया। उन्होंने कहा  कि सभी मतगणना कर्मी प्रत्येक दशा में प्रातः 7 बजे तक अपने अपने मतगणना स्थल पर पहुंच जाए। मतगणना हाल में मोबाइल प्रतिबंधित है। इसलिए मोबाइल न लाये। मतगणना एक ही शिफ्ट में की जाएगी। सभी उम्मीदवारों से मतगणना एजेंट के लिए प्रारूप 34 पर आवेदन प्राप्त कर दो फोटो भी ले लें। पुलिस से उनके अपराध के बारे में जांच भी कराये।मतगणना एजेंट को निर्धारित टेबल के अतिरिक्त कही भी जाने की अनुमति नही होगी। मतगणना मतदान स्थलवार की जाएगी। सदस्य की मतगणना एक टीम करेगी , अध्यक्ष की मतगणना दूसरी टीम करेगी। 50-50 मतो की गड्डी बनायी जायेगी। फिर उम्मीदवार वार पृथक किया जाएगा। वैध मतो से संदिग्ध मतो को अलग कर लेंगे। संदिग्ध मतो को आयोग के निर्देशानुसार परीक्षण कर वैध और अवैध का निर्धारण आर ओ करेगे। आयोग द्वारा निर्धारित प्रारूप पर मतो का अंकन कर मतगणना पर्यवेक्षक हस्ताक्षर कर आर ओ को सौपेंगे। आयोग द्वारा निर्धारित प्रारूप पर परिणाम की घोषणा करेंगे तथा निर्धारित प्रारूप पर प्रमाण पत्र देकर उसकी प्राप्ति निर्धारित प्रारूप पर कराएंगे। मतगणना 1 दिसंबर को प्रातः 8 बजे प्रारम्भ होगी। प्रशिक्षण के समय मुख्य विकास अधिकारी अनिल कुमार सिंह, उपजिलाधिकारी दादरी अमित सिंह, सदर अंजनी कुमार सिंह, जेवर राजपाल सिंह, नगर मजिस्ट्रेट ग्रेटर नोएडा राजेश कुमार, जिला विकास अधिकारी डॉ राम आसरे और अन्य अधिकारी उपस्थित थे।

3:12 pm | Posted in , | Read More »

26 नवम्बर को हुई हरेंद्र की हत्या का खुलासा करते हुए बिसरख पुलिस ने दो अभियुक्तों को किया गिरफ्तार

सोनू शर्मा संवाददाता, वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक गौतमबुद्धनगर व पुलिस अधीक्षक ग्रामीण द्वारा चलाएं जा रहे वांछित अपराधियों की धरपकड़ के अभियान के दौरान पुलिस क्षेत्राधिकारी ग्रेटर नोएडा तृतीय/ ऑपरेशन अनित कुमार के कुशल पर्यवेक्षण में थाना प्रभारी बिसरख अजय कुमार शर्मा द्वारा मय हमराही और पुलिस बल के थाना बिसरख में पंजीकृत मुकदमा अपराध संख्या 762/17 धारा 302 भादवि बनाम अज्ञात के अनावरण में आज 28 नवम्बर को अभियुक्त अमरजीत पुत्र जनाब साहब निवासी ग्राम सरवर थाना मेहंदिया जिला अरवर, विकास पुत्र त्रिभुवन निवासी उपरोक्त को मुखविर की सूचना पर ग्राम मिलक लच्छी से गिरफ्तार किया गया है। बीते 26 नवम्बर की रात्रि में हरेंद्र पुत्र राजेश्वर निवासी सर्वरपुर थाना महंदीया जिला अरवर, बिहार की अज्ञात बदमाशों ने हत्या कर दी थी। जिस के सम्बन्ध में थाना बिसरख पर अज्ञात आरोपीयों के खिलाफ मुकदमा पंजीकृत हुआ था।

3:06 pm | Posted in , | Read More »

'मै अपने परिवार का गला काटने जा रहा हूं', FB पोस्ट देख 14 मिनट में पहुंची पुलिस

महाराष्ट्र के पालघर जिले में पुलिस ने एक शख्स को अपने पूरे परिवार की हत्या करने से बचा लिया. इस शख्स ने फेसबुक पर पोस्ट किया था कि वह अपने पूरे परिवार की हत्या करने जा रहा है. फेसबुक पर उसके पोस्ट के महज 14 मिनट के अंदर पुलिस उसके घर पहुंच गई और उसे रोक लिया. पुलिस ने उस शख्स को समझा-बुझाकर छोड़ दिया है.मामला पालघर के नालासोपारा का है. 60 साल के नारायण राज मारू एअर इंडिया से रिटायर सर्विस इंजीनियर हैं. इनका कहना है कि पूरा परिवार इन्हें पैसों के लिए परेशान करता है. रिटायरमेंट के बाद उन्हें प्रॉविडेंट फंड के 10 लाख रुपये मिले थे, जो उन्होंने अपने परिवार को दे दिया. अब पीएफ के पैसे भी खत्म हो गए, तो परिवार में फिर से झगड़ा शुरू हो गया है.नारायण राज का कहना है कि रोज-रोज के झगड़े से तंग आकर उन्होंने दो बार आत्महत्या करने की भी कोशिश की, लेकिन बच गए. सोमवार को उन्होंने फेसबुक पर पोस्ट लिखा- 'मैं अपने पूरे परिवार का गला काटने जा रहा हूं.' पुलिस की मानें, तो फेसबुक पर ये मैसेज मिलने के बाद पालघर पुलिस फौरन 14 मिनट के अंदर नारायण राज के घर पहुंच गई. पुलिस ने उनकी काफी देर तक काउंसलिंग की. पुलिस अब सोशल मीडिया टीम को और विकसित कर रही है, ताकि ऐसे वारदात होने से पहले रोके जा सके.

2:58 pm | Posted in , , , , | Read More »

हैदराबाद में मोदी ने कहा- जिन राज्यों में सरकार नहीं, उससे भेदभाव नहीं करते

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी मंगलवार को हैदराबाद मेट्रो का उद्घाटन करने पहुंचे. इस मेट्रो का परिचालन 29 नवंबर से शुरू से होगा. इस दौरान प्रधानमंत्री ने कहा, दिल्ली में बैठी सरकार राजनीति के आधार पर भेदभाव नहीं करती है. सरकार राज्यों के विकास के लिए राष्ट्रहित की नीतियों का समर्थन करती है.उन्होंने कहा, हम सहकारी संघवाद में विश्वास करते हैं. इसका सवाल ही नहीं उठता कि जिन राज्यों में हमारी सरकार नहीं है, उससे हम भेदभाव करें. हम पूरे देश के विकास के लिए प्रतिबद्ध हैं.बता दें कि हैदराबाद मेट्रो के पहले चरण में नागोले और मियापुर के बीच 30 किमी लंबी सफर की शुरुआत होगी. इस रास्ते में कुल 24 स्टेशन पड़ेंग.उन्होंने कहा, पूरी दुनिया की नजर आज अहमदाबाद पर है. इस समिट में हिस्सा लेने के लिए कई देशों से लोग आए हैं. यह शहर एक प्रतिष्ठित समिट की मेजबानी कर रहा है. हमारे कार्यकर्ता भी जमीन पर काम कर रहे हैं और लोगों के साथ जुड़े हुए हैं. हमें बीजेपी कार्यकर्ताओं के इस परिवार पर गर्व है.

2:50 pm | Posted in , , , , | Read More »

आरटीआई में खुलासा, कहां गया निर्भया फंड?

16 दिसंबर 2012 को हुई दरिंदगी को पांच साल पूरे होने जा रहे हैं. निर्भया कांड के बाद केंद्र सरकार ने देश की महिलाओं की सुरक्षा व्‍यवस्‍था के लिए निर्भया फंड का एलान किया था. लेकिन केंद्र सरकार निर्भया फंड का 50 फीसदी भी अभी तक खर्च नहीं कर पाई है. वहीं देश के हर जिले में 'वन स्‍टॉप सेंटर' का सपना भी अधर में लटका है.आरटीआई में मिली जानकारी के अनुसार, केंद्रीय महिला एवं बाल विकास मंत्रालय निर्भया कांड के पांच साल बाद 660 वन स्‍टॉप सेंटर्स में से सिर्फ 148 ही खोल सका है. जबकि निर्भया कांड के बाद वन स्‍टॉप सेंटर को मंत्रालय ने पीडि़त महिलाओं के लिए सबसे जरूरी चीज माना था. सबसे खास बात है कि घटनास्‍थल रहे दिल्‍ली में ऐसा एक भी वन स्‍टॉप सेंटर नहीं खोला गया है.न केवल केंद्र सरकार बल्कि दिल्‍ली सरकार का रवैया भी निर्भया फंड को लेकर बेहद चौंकाने वाला है. आरटीआई एक्टिविस्‍ट अजीत सिंह की आरटीआई में खुलासा हुआ है कि निर्भया कांड में आंदोलन में सक्रिय भूमिका निभाने वाले और बाद में दिल्‍ली के मुख्‍यमंत्री बने अरविंद केजरीवाल की सरकार ने निर्भया फंड का इस्‍तेमाल नहीं किया है. 

इसके साथ ही मंत्रालय के आंकड़े बताते हैं कि 2013-14 में पहली बार 1000 करोड़ रुपये की राशि के साथ शुरू हुए निर्भया फंड में वित्‍त वर्ष 2014-15, 2015-16, 2016-17 और 2017-18 में हर साल 1000 करोड़ रुपये आए. जिसमें से 3100 करोड़ रुपये सार्वजनिक खाते में ट्रांसफर किए गए.इनमें से सिर्फ 2209 करोड़ रुपये के प्रस्‍ताव ही मेनका गांधी के मंत्रालय ने तैयार किए हैं. जिनके तहत काम किया जा रहा है. हालांकि ये पूरा पैसा अभी तक खर्च नहीं किया गया है. ऐसे में साफ है कि केंद्र सरकार निर्भया फंड का आधा भी खर्च नहीं कर पाई है और आधे से ज्‍यादा निर्भया फंड सरकारी खाते में ही पड़ा है. 

केंद्रीय मंत्रालय ने अभी तक तय नहीं की 660 वन स्‍टॉप सेंटर की डेडलाइन
महिला एवं बाल विकास मंत्रालय की मीडिया डायरेक्‍टर नानू भसीन का कहना है कि महिला एवं बाल विकास मंत्री मेनका गांधी की इच्‍छा थी कि देश के हर जिले में वन स्‍टॉप सेंटर बनें इसलिए 660 वन स्‍टॉप सेंटर की बात की गई. 660 सेंटर का कोई आदेश नहीं था.मंत्रालय की ओर से 2015 में वन स्‍टॉप स्‍कीम शुरू की गई. इसी के तहत काम चल रहा है. नवंबर 2017 तक देशभर में 165 वन स्‍टाॅप सेंटर बन चुके हैं. इन सेंटर्स में 34 हजार महिला और बच्चियों को सहायता मिल चुकी है. वहीं 150 सेंटर के लिए कैबिनेट से फिर मंजूरी मिल गई है. जिन्‍हें 2020 तक बनाना है. 

धीमी गति से चल रहे वन स्‍टॉप सेंटर के निर्माण कार्य पर भसीन ने बताया कि जैसे-जैसे कैबिनेट से मंजूरी मिलती जा रही है काम होता जा रहा है. 660 सेंटरों की कोई डेडलाइन तय नहीं की गई. कई राज्‍य ऐसे हैं, जिन्‍होंने वन स्‍टॉप सेंटर बनाने के लिए मांगें ही नहीं भेजी हैं.
जिस राज्‍य में मरी निर्भया, उस राज्‍य ने ही नहीं इस्‍तेमाल किया निर्भया फंड
बेहद दुखद है कि महिला सुरक्षा के लिए हल्‍ला मचाने वाली अरविंद केजरीवाल सरकार ने न केवल निर्भया को भुला दिया, बल्कि दिल्‍ली की बेटियों की सुरक्षा के लिए केंद्र की ओर से तय किए गए निर्भया फंड का भी इस्‍तेमाल नहीं किया है. 

दिल्‍ली के मुख्‍यमंत्री अरविंद केजरीवाल की सरकार ने निर्भया की माैत को पांच साल होने तक केंद्रीय मंत्रालय से निर्भया फंड के तहत कोई पैसा नहीं मांगा है. आरटीआई में मिली जानकारी के अनुसार दिल्‍ली सरकार ने केंद्र को अभी तक वन स्‍टॉप सेंटर के लिए फंड की मांगें और सिफारिशें नहीं भेजी हैं. जबकि अन्‍य राज्‍यों ने भेज दी हैं.इस मामले में अरविंद केजरीवाल का कहना है कि दिल्‍ली सरकार के अंतर्गत 11 वन स्‍टॉप सेंटर चल रहे हैं. जबकि महिला एवं बाल विकास मंत्रालय के अधिकारियों के मुताबिक दिल्‍ली सरकार के वन स्‍टॉप सेंटर मानकों को पूरा नहीं करते.
केंद्र ने कहा- बेकार हैं अरविंद केजरीवाल सरकार के वन स्‍टॉप सेंटर
केंद्रीय मंत्रालय ने दिल्‍ली में चल रहे सभी 11 वन स्‍टॉप सेंटर्स को नकार दिया है. मंत्रालय की ओर से नानू भसीन का कहना है कि दिल्‍ली में ये सेंटर्स कहां चल रहे हैं, किसी को पता नहीं है. जैसे दिल्‍ली में चल रहे हैं ऐसे सेंटर तो केंद्रीय मंत्रालय हर ब्‍लॉक में बना सकता है. दिल्‍ली के वन स्‍टॉप सेंटर्स सिर्फ नाम के हैं. उनमें न सभी सुविधाएं हैं न इन्‍फ्रास्‍ट्रक्‍चर है, न तकनीकी सुविधाएं हैं. दिल्‍ली के सेंटर सभी गाइडलाइंस को पूरा करते हैं. ज्‍यादातर वन स्‍टॉप सेंटर्स एक-एक कमरे में चल रहे हैं.

डीटीसी बसों में सीसीटीवी कैमरों पर विवाद
दिल्‍ली महिला आयोग की ओर से बताया गया कि दिल्‍ली सरकार ने डीटीसी बसों में सीसीटीवी कैमरे लगाने की मांग केंद्रीय मंत्रालय को भेजी थी और इसके तहत निर्भया फंड से पैसा मांगा था. लेकिन केंद्रीय महिला एवं बाल विकास मंत्रालय ने मना कर दिया और कहा कि इससे महिलाओं को कोई फायदा नहीं होगा. डीसीडब्‍ल्‍यू का कहना है कि उन्‍होंने अपनी मांगें राज्‍य के डब्‍ल्‍यूसीडी को इस साल में भेज दी थीं.
जबकि केंद्रीय मंत्रालय का कहना है कि डीटीसी बसों में कैमरे व्‍यावहारिक नहीं हैं. इससे महिलाओं को कोई फायदा नहीं होने वाला है. बसों में भीड़ के दौरान अगर कोई वारदात होती है तो सीसीटीवी खास मददगार नहीं होंगे. 

निर्भया फंड मामले से दिल्‍ली सरकार ने झाड़ा पल्‍ला
निर्भया फंड को लेकर दिल्‍ली सरकार की ओर से प्रतिक्रिया देने से इनकार कर दिया गया. इस मामले में जब दिल्‍ली सरकार के प्रवक्‍ता नगेंद्र शर्मा से बात की गई तो उन्‍होंने कुछ भी बोलने से मना कर दिया. उन्‍होंने कहा कि निर्भया फंड मामले पर दिल्‍ली महिला आयोग से बात कीजिए, वही बताएंगे.

निर्भया को किया याद, लेकिन राज्‍य की अन्‍य निर्भयाओं को भूल गईं ममता बनर्जी
निर्भया की बरसी पर हर साल याद करने वाली पश्चिम बंगाल की मुख्‍यमंत्री ममता बनर्जी ने भी निर्भया फंड से वन स्‍टॉप सेंटर बनाने के लिए फंड नहीं मांगा है. केंद्रीय मंत्रालय का कहना है कि उन्‍हें पश्चिम बंगाल से कोई मांग नहीं मिली है.

 



2:47 pm | Posted in , , , , | Read More »

चार बसों में अचानक लगी आग, जलकर राख

नार्थ दिल्ली के तिमारपुर में  पार्किंग में खड़ी चार निजी बसों में अचानक आग लग गई. देखते ही देखते चारों बसें जलकर राख हो गईं. हालांकि यह गनीमत रही कि घटना के वक्‍त सभी बसें खाली थीं और पार्किंग में खड़ी थी.मंगलवार सुबह तिमारपुर में पेट्रोल पंप और थाने के पास निजी बसों की पार्किंग में अचानक लगी देख हड़कंप मच गया. लोगों ने इसकी सूचना तत्‍काल दमकल विभाग को दी. हालांकि आग इतनी तेज थी कि कुछ ही देर में चारों बसें पूरी तरह जल गईं.थोड़ी देर में मौके पर पहुंचे दमकल विभाग ने  आग बुझाने की कोशिश की. हालांकि काफी मशक्‍कतों के बाद आग पर काबू पाया जा सका लेकिन बसें पूरी तरह जल गईं. आग के दौरान बसों में कोई नहीं था लेकिन एक शख्स मामूली रूप से झुलसा है.बता दें कि इतनी भीषण अाग से लोग इसलिए भी दहशत में आ गए कि पार्किंग से चंद कदम की दूरी पर पेट्रोल पंप है और दूसरी तरफ झुग्गियां हैं. ऐसे में आग बढ़ते ही ये सब भी चपेट में आ सकते थे. चश्मदीदों की मानें तो यहां खाली जमीन पर बड़ी तादाद में निजी बसें पार्क होती हैं और पास में ही लोग बीड़ी सिगरेट पीते हैं. ऐसे में आग लगने की यह भी एक वजह हो सकती है.गौरतलब है कि इससे पहले भी यहां आग लगने की घटनाएं हो चुकी हैं. दूसरा पहलू ये भी है कि इन बसों से तेल चोरी के दौरान भी आग लग सकती है. हालांकि दमकल विभाग और तिमारपुर थाना पुलिस बसों में आग की घटना की जांच कर रहे हैं.

2:36 pm | Posted in , , , | Read More »

माँ पद्मावती राजपूतों की ही नहीं समूचे हिंदुस्तान का गौरव- मुकुल

हरदोई। अखिल भारतीय क्षत्रिय महासभा के नेतृत्व में संजय लीला भंसाली द्वारा निर्मित फिल्म पद्मावती का विरोध किया गया है। क्षत्रिय समाज की जननी मां पद्मावती को गलत तरीके से फिल्म में दर्शाया गया है। यह बात कहते हुए पदाधिकिरियों ने राष्ट्रपति को संबोधित ज्ञापन नगर मजिस्ट्रेट वन्दिता श्रीवास्तव को सौंपा, और साथ ही संजय लीला भंसाली का पुतला भी फूंका।अखिल भारतीय क्षत्रिय महासभा के प्रदेश संयोजक युवा मुकुल सिंह आशा ने कहा की रानी पद्मावती के जीवन पर आधारित एक फिल्म जिसका नाम पद्मावती है। उसके ट्रेलर में फिल्म को मनोरंजक व दिलचस्प बनाने के लिए मां पद्मावती के इतिहास को गलत तरीके से छेड़छाड़ किया गया। जिससे क्षत्रिय समाज ही नहीं बल्कि सभी समाज के लोग काफी आहत है। रानी पद्मावती राजपूतों की ही नहीं समूचे हिंदुस्तान का गौरव और भारतीय महिलाओं के स्वाभिमान का प्रतीक है उन्होंने जौहर करके भारतीय महिलाओं के लिए जो बलिदान दिया है वह इतिहास में अमर है।राष्ट्रीय सचिव राजवर्धन सिंह राजू ने कहा की इस संगठन का उद्देश्य समाज को सकारात्मक और रचनात्मक गतिविधियों से जोड़कर उस का उत्थान करना है रानी पद्मावती का साहस और त्याग एक मिसाल है।अखिल भारतीय क्षत्रिय महासभा  राष्ट्रपति से अनुरोध करती है कि ऐसी फिल्म को पूरे भारत में बैन कर दिया जाए और साथ ही आगे कभी भी  किसी भी फिल्म में क्षत्रिय समाज को गलत तरीके से प्रस्तुत ना किया जाए अन्यथा क्षत्रिय समाज धरना देने को बाध्य रहेगा।इस मौके पर प्रदेश सचिव युवा अखिल सिंह चंदेल, प्रदेश सचिव युवा अभिषेक प्रताप सिंह, मंडल उपाध्यक्ष युवा सौरव सिंह गौर, प्रदेश महासचिव राजीव सिंह, जिला अध्यक्ष अतुल सिंह, युवा जिलाध्यक्ष अमित सिंह मीतू, अखंड प्रताप सिंह, आलोक सिंह चौहान, अंकित सिंह, अमित शर्मा, आशीष सिंह राजा, दिलीप सिंह, अजय सिंह मोनू, पवन सिंह, पंकज सिंह, अमित सिंह, आदि मौजूद रहे।

2:01 pm | Posted in , | Read More »

हरदोई में युवक के खिलाफ देशद्रोह का मामला दर्ज

हरदोई - प्रदेश के लखीमपुर खीरी में आतंकी हाफिज सईद के पाकिस्तानी कोर्ट से रिहा करने के फैसले पर जश्न का मामला ठंडा भी नहीं पड़ा था कि हरदोई में कल एक युवक ने देश के खिलाफ काफी अभद्र भाषा का प्रयोग किया। इस प्रकरण के तूल देने पर युवक के खिलाफ देशद्रोह का मुकदमा दर्ज किया गया है। हरदोई में कल भारत के खिलाफ अभद्र भाषा के साथ गाली देकर पाकिस्तान की तारीफ का वीडियो वायरल करने के आरोपी के खिलाफ पुलिस ने देशद्रोह का मामला दर्ज किया है। भारत के खिलाफ अभद्र टिप्पणी करते हुए वीडियो वायरल होने के मामले में कासिमपुर थाना क्षेत्र में खलबली मच गई। कल देर शाम वायरल वीडियो में बेंहदर निवासी शाहरुख पुत्र जाकिर को पाकिस्तान की तारीफ करते हुए भारत के लोगों को बेहद भद्दी गालियां देते दिखाया गया है। वीडियो में भारतीयों पर हमला और उन्हें सबक सिखाने जैसी बातें कहने से क्षेत्र के हिंदू संगठनों में आक्रोश फैल गया।
ब्यूरो / संवाददाता रवि लाला।

6:10 pm | Posted in | Read More »

पंडित दीनदयाल स्पोर्ट स्टेडियम में फाइनल मैच सेंट जूडस और एस एस अकेडमी के बीच खेला गया।

उन्नाव बाई पास इस्थित पंड़ित दीनदयाल स्पोर्ट स्टेडियम में पिछले दिनों से चल रही 12 वी डॉ सुखदेव प्रसाद गुप्त जनपदीय क्रिकेट लीग का आज फाइनल मैच सेंट जूडस और एस एस अकेडमी के बीच खेला गया। फाइनल मैच में एस एस अकेडमी ने सेंट जूडस को 3 विकेट से पराजित कर ट्राफी जीत लिया
इस मौके पर बांगरमऊ विधायक कुलदीप सिंह सेंगर व ब्लॉक प्रमुख नवाबगंज अरुण सिंह ने पहुंचकर खिलाड़ियों का उत्साहवर्धन कर पुरस्कार वितरण किया।

4:41 pm | Posted in , | Read More »

अमौली में किया जायेगा रामलीला का आयोजन

फतेहपुर जनपद के अमौली कस्बे में में प्रतिवर्ष की भाँति ऐतिहासिक 146 वा मेला और रामलीला का आयोजन किया जाये गा जिसकी तैयारियां जोरो से चल रही है। फतेहपुर जिले के कस्बा अमौली का एतिहासिक 146 वां राम लीला एवं मेला तीन दिसम्बर से शुरू होने जा रहा है ।मेले की तैयारियों को लेकर मेला कमेटी व कस्बा के जागरूक युवक लगे हुये है ।आज मेला ब्यवस्था को लेकर कमेटी की बैठक लंका मेला मैदान  हुयी जहां मेला प्रबंधक व अध्यक्ष द्वय ने ब्यस्था हेतु नवयुवकों को अलग -अलग जिम्मेदारियां दी तथा मेले मे निकलने वाली बिभिन्न देवी देवताओं की झांकियां सजवाने से लेकर शोभायात्रा निकालने की सारी जिम्मेदारी  ग्राम प्रधान प्रकाश चन्द्र उर्फ बन्टू सोनकर ने ली ।मेला प्रबंन्धक व अध्यक्ष द्वय ने बताया कि इस मेले मे समूचे प्रदेश के बिभिन्न जनपदो से दुकानदार ,सरकस , व तरह तरह के झूला आते है जिन्हें सुरक्षा व अन्य सारी सुबिधायें दी जाती है वहीं 29  नवम्बर बुधवार  से राम लीला का मंचन शुरू हो गया है जो अनवरत 5 दिसम्बर तक चलेगी ।लीला राम बनगमन से लेकर राज्याभिषेक तक होती है रावण बध 3 दिसम्बर को होगा इसी दिन बडा मेला होगा जिसमे राम- रावण दल के विभिन्न पुतले व देवी देवताओं की झांकियां ढोल तांसे व बैण्ड बाजे के साथ  निकाली जायेंगी ।मेले का उद्घाटन क्षेत्रीय बिधायक कारागार व लोक कल्याण राज्य मंत्री जय कुमार जैकी करेंगे ।इस मौके पर प्रमुख रूप से जगत नारायण त्रिवेदी ,अवधेश तिवारी ,महेश देव तिवारी ,दुर्गा प्रसाद पांण्डेय ,राजेश शर्मा ,महेश दुबे ,सुरेश सोनकर सहित मेला प्रवंध समिति के संरक्षक चंन्द्रिका प्रसाद त्रिवेदी व कस्बा के तमाम प्रबुद्ध लोग उपस्थित रहेगें।

4:40 pm | Posted in , | Read More »

राशन कार्ड धारकों को निर्धारित मानकों के अनुसार राशन का वितरण हो ::जिलाधिकारी

सोनू शर्मा संवाददाता, गौतमबुद्दनगर जनपद में राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा अधिनियम के तहत सभी राशन कार्ड धारकों को मानकों के अनुसार राशन का वितरण हो उसके लिए जिलाधिकारी गौतमबुद्धनगर ब्रजेश नारायण सिंह के निर्देशों में जिला पूर्ति अधिकारी तथा उनके विभागीय अधिकारियों के द्वारा ऐसे प्रयास किए जा रहे हैं। कि सभी राशन कार्ड धारकों को निर्धारित मानकों के अनुसार राशन का वितरण संभव हो सके। इस परिपेक्ष में राशन दुकानदार गोदामों से अपने राशन का उठान करते हुए उसे बहुत ही पारदर्शिता के साथ अपने वाहनों पर बैनर आदि लगाकर अपनी दुकानों तक ले जा रहे हैं। ताकि कहीं पर राशन की कालाबाजारी संभव ना हो सके। यह व्यवस्था जिला पूर्ति अधिकारी राज नारायण यादव के द्वारा बनाई गई है। और उनके द्वारा यह भरसक प्रयास किए जा रहे हैं। कि सभी राशन कार्ड धारकों को उनका राशन समयबद्धता के साथ मानको के अनुसार मिल सके।

4:38 pm | Posted in | Read More »

पुलिस क्षेत्राधिकारी जेवर ने निकाय चुनाव से पूर्व अर्द्धसैनिकों और पुलिस बल के साथ निकाला फ्लैगमार्च

सोनू शर्मा संवाददाता, ग्रेटर नोएडा के जहाँगीरपुर कस्बे मे नगर निकाय सामान्य निर्वाचन 2017 के मद्देनजर पुलिस क्षेत्राधिकारी जगतराम जोशी ने अर्द्धसैनिकों और पुलिस बल के साथ जेवर,जहाँगीरपुर और रबुपुरा कस्बों मे पैदल फ्लैगमार्च किया। पुलिस अधिकारियों ने असामाजिक तत्वों को कड़ा सन्देश देने के उद्देश्य से फ्लैगमार्च किया। कि अगर किसी असामाजिक तत्व ने निकाय चुनावों में माहौल बिगाड़ने अथवा अशान्ति फैलाने की कोशिश की तो उसके खिलाफ सख्त से सख्त कार्यवाही की जायेगी। ऐसे व्यक्तियों को किसी भी सूरत में बर्दाश्त नही किया जायेगा। गौरतलब है कि नगरीय निकाय चुनाव का मतदान जेवर तहसील की तीनों नगर पंचायत जहाँगीरपुर, जेवर और रबुपुरा सहित पूरे गौतमबुद्धनगर जिले मे रविवार को होना है। इसलिए क्षेत्र मे शान्ति व्यवस्था बनाए रखने के उद्देश्य से पुलिस और प्रशासनिक अधिकारी क्षेत्र मे लगातार फ्लैगमार्च कर रहे हैं।पुलिस क्षेत्राधिकारी ने बाहरी व्यक्तियों की चैकिंग और मतदान स्थलों का भी निरीक्षण किया। फ्लैगमार्च के दौरान एस एस आई ब्रमेश कुमार यादव थाना जेवर, एस आई मुकेश कुमार और जहाँगीरपुर चौकी प्रभारी देवेन्द्र सिंह भी साथ मे मौजूद रहे।

4:56 pm | Posted in , | Read More »

लंदन: ऑक्सफोर्ड सर्कस स्टेशन पर आतंकी 'घटना', कोई हताहत नहीं

ब्रिटेन की पुलिस ने बताया कि उसे मध्य लंदन के ऑक्सफोर्ड सर्कस इलाके में गोली चलने की खबरें मिली, जिसके बाद पुलिस हरकत में आ गई. साथ ही, इस तरह से कार्रवाई की जा रही, मानो कि यह आतंकी घटना हो.लंदन की मेट्रोपोलिटन पुलिस ने लोगों से इलाके में तब तक जाने से बचने को कहा है, जब तक अगले निर्देश नहीं आ जाते. ‘जो पहले से इलाके में हैं, वे इमारतों में छिपकर रहें.’ पुलिस ने ट्विटर पर लिखा, ‘अगर आप ऑक्सफोर्ड स्ट्रीट पर हैं तो किसी इमारत में चले जाएं और अगले निर्देश तक वहीं रहें.ऑक्सफोर्ड स्ट्रीट इलाके में जाने से बचें. फिलहाल, पुलिस को किसी के हताहत होने के बारे में पता नहीं चला है.’पुलिस ने बताया कि उसके पास स्थानीय समयानुसार आज शाम 4:38 बजे ऑक्सफोर्ड स्ट्रीट में गोली चलने की कई खबरें आईं. पुलिस ने एक बयान में कहा, ‘पुलिस ने इस तरह से कार्रवाई कर रही है, मानो कि घटना आतंकवाद से जुड़ी हो. मौके पर हथियारों से लैस और बगैर हथियार के भी अधिकारी मौजूद हैं.’शुरुआत में एहतियात के तौर पर ऑक्सफोर्ड स्टेशन को बंद कर दिया गया था, लेकिन फिर बाद में इसे खोल दिया गया. इससे पहले ब्रिटिश ट्रांसपोर्ट पुलिस ने कहा था, ‘स्टेशन फिलहाल बंद है. इस समय कृपया इलाके में जाने से बचा जाए.’

4:54 pm | Posted in , , , , | Read More »

तुर्की की सबसे बड़ी झील के अंदर मिला प्राचीन महल

तुर्की के सबसे बड़ी झील वान के अंदर से एक प्राचीन महल की खोज हुई है. समाचार एजेंसी सिन्हुआ के अनुसार, पुरातत्वविदों की एक टीम ने बताया कि वान यूनिवर्सिटी की टीम ने गुरुवार को इस खोज की घोषणा की. तुर्की की सबसे बड़ी और मध्य पूर्व की दूसरी सबसे बड़ी झील की गहराई में मिला यह प्राचीन महल काफी हद तक अच्छी हालत में है.टीम के प्रमुख तहसीन सीलान ने कहा, 'स्थानीय लोगों के बीच यह बात कही जाती रही है कि पानी के नीचे कुछ हो सकता है, लेकिन अधिकांश पुरातत्वविदों और संग्रहालय के अधिकारियों ने कहा था कि हमें वहां कुछ नहीं मिलेगा.'उन्होंने कहा कि हम वान झील में 10 साल से शोध कर रहे हैं और यह खोज हमारे लिए भी अप्रत्याशित है. महल एक किलोमीटर में फैला हुआ है. दीवारों की ऊंचाई तीन से चार मीटर के बराबर है, झील के क्षारीय जल ने इसे अच्छी स्थिति में रखा है. किले की शेष संरचनाएं पत्थरों से बनी हैं.महल के बारे में जानने के लिए अभी भी बहुत कुछ है उदाहरण के लिए, यह अभी भी स्पष्ट नहीं है कि महल की दीवारे झील के तलछट में कितनी गहराई तक गईं हैं. इसके अतिरिक्त आगे के पुरातात्विक अनुसंधान से इस महल के निर्माताओं के बारे में अधिक जानने में मदद मिलेगी.शोधकर्ताओं ने पहली बार घोषणा करते हुए कहा कि उनका मानना है कि यह लुप्त हो चुकी उरारतु सभ्यता के लौह युग का अवशेष है, जिसे वान साम्राज्य भी कहा जाता है, जो नौवीं से लेकर छठी शताब्दी ईसा पूर्व तक आधुनिक ईरान के पास स्थित क्षेत्र में शुरू हुआ था.पिछले साल टीम ने झील के अंदर चार वर्ग किलोमीटर क्षेत्र तक फैले स्टैलगमाइट्स (पत्थर की चट्टानें) की भी खोज की थी. इससे पहले इस साल शोधार्थियों ने झील में एक रूसी जहाज की खोज की घोषणा की थी जो 1948 में डूब गया था।

4:52 pm | Posted in , , , , , | Read More »

'पर्सन ऑफ द ईयर' के लिए नहीं किया था ट्रंप के नाम का जिक्र : टाइम मैगजीन

अमेरिकी राष्‍ट्रपति डोनाल्‍ड ट्रंप के ट्वीट की पोल खोलते हुए टाइम मैगजीन ने दावा किया कि उन्‍होंने कभी भी 'पर्सन ऑफ द ईयर' के लिए ट्रंप के नाम का जिक्र नहीं किया. अमेरिकी राष्‍ट्रपति ने शुक्रवार को दावा किया था कि उन्‍हें इस बार टाइम मैगजीन की ओर से 'पर्सन ऑफ द ईयर' चुना जाना था, लेकिन उन्‍होंने इस प्रस्‍ताव को ठुकरा दिया.ट्रंप ने कहा था कि मैगजीन ने उनसे इंटरव्‍यू और फोटोशूट के लिए बात की थी लेकिन इस बात की पुष्‍टि नहीं की थी क‍ि उन्‍हें इस साल भी मैगजीन के कवर पेज के लिए चुना जा रहा है. ट्रंप ने ट्वीट किया था, "टाइम मैगजीन ने उनसे कहा था क‍ि संभवत: इस साल पर्सन ऑफ का ईयर मैं चुना जाऊंगा, जिसे लेकर मुझे आपत्ति थी. मैंने उनसे कहा था कि मुझे इससे दिक्‍कत है इसलिए मैंने उनका प्रस्‍ताव ठुकरा दिया."
ट्रंप के ट़वीट पर टाइम मैगजीन का जवाब
डोनाल्‍ड ट्रंप के ट्वीट का जवाब देते हुए टाइम मैगजीन ने कहा कि हमने अमेरिकी राष्‍ट्रपति से कभी नहीं कहा कि उनका इंटरव्‍यू हम इसलिए कर रहे हैं क्‍योंक‍ि उन्‍हें 'पर्सन ऑफ द ईयर' चुना जाना है.
हर साल टाइम मैगजीन देती है 'पर्सन ऑफ द ईयर' का खिताब
टाइम मैगजीन हर साल अपने कवर पेज पर उस शख्‍स को जगह देती है, जिसने अपने अच्‍छे और बुरे कामों से पूरे साल दुनिया के सामने अपनी अलग छवि बनाई हो. पिछले साल जब डोनाल्‍ड ट्रंप अमेरिकी राष्‍ट्रपति चुने गए थे, जब उन्‍हें 'पर्सन ऑफ द ईयर' घोषित किया था. मैगजीन के कवर पेज पर डोनाल्‍ड ट्रंप की फोटो के साथ लिखा था ‘प्रेजिडेंट ऑफ द डिवाइडेड स्‍टेट्स ऑफ अमेरिका’ रखा था.

4:49 pm | Posted in , , , , | Read More »

पाकिस्तान के इस्लामाबाद में हिंसक हुआ प्रदर्शन, लाइव कवरेज पर रोक

पाकिस्तान की राजधानी इस्लामाबाद में शनिवार को प्रदर्शनकारियों और पुलिस में तीखी झड़प हुई. इस दौरान पुलिस पर भी पत्थर फेंके गए और आगजनी की घटना हुई. इसके बाद पुलिस ने बल प्रयोग किया. बताया जा रहा है कि सरकार ने टीवी पर झड़प के प्रसारण पर रोक लगा दी है. रिपोर्ट के मुताबिक एक पुलिस वाले की मौत भी हुई है.हालांकि, ये भी कहा जा रहा है कि प्रदर्शनकारियों पर कार्रवाई के लाइव कवरेज को रोकने पर पाकिस्तान इलेक्ट्रॉनिक मीडिया रेग्युलेटरी अथॉरिटी ने विरोध में सभी टीवी चैनलों से प्रसारण रोकने को कहा है.
पुलिस ने क्यों चलाया ऑपरेशन?
बताया जा रहा है कि तहरीके-ऐ-लब्बैक (टीएलपी) उर्फ रसूल अल्लाह नाम के इस्लामिक संगठन से जुड़े लोग इलेक्शन एक्ट को लेकर 20 दिनों से धरने पर थे. इसी को खत्म कराने के लिए वहां स्पेशल पुलिस के जवान पहुंचे. इसके बाद विवाद शुरू हो गया.बताया जा रहा है कि 8500 स्पेशल पुलिस के जवान वहां मौजूद हैं. जवानों ने 150 लोगों को गिरफ्तार किया है. इस प्रदर्शन में 50 से ज्यादा लोग घायल हुए हैं, जिसमें पुलिस के जवान भी शामिल हैं. प्रदर्शनकारी पत्थर और डंडे से हमला कर रहे हैं. पुलिस ने आंसू गैस के गोले और रबड़ की गोलियां भी चली हैं. बता दें कि प्रदर्शनकारियों का कहना है कि निर्वाचित प्रतिनिधियों के शपथ नियम में इलेक्शन एक्ट 2017 के अधिनियम के तहत मोहम्मद साहब की सर्वोच्चता को चुनौती दी गई है. सरकार ने अपना पक्ष रखते हुए इसे मानवीय भूल बताया. सरकार संसद के एक्ट के तहत इसमें सुधार भी कर चुकी है, लेकिन प्रदर्शनकारी कानून मंत्री के इस्तीफे की मांग पर अड़े हैं.

4:47 pm | Posted in , , , , | Read More »

दस दिन से लापता जवान की कश्‍मीर में गोली मारकर हत्‍या

दक्षिणी कश्‍मीर के शोपियां जिले में रहने वाले प्रादेशिक सेना (टेरिटोरिअल आर्मी) के 23 वर्षीय जवान का शव उसके घर से कुछ ही दूर पर गोलियों से छलनी मिला. बताया जाता है क‍ि जवान पिछले दस दिन से लापता था.शनिवार सुबह दस बजे कुछ लोगों ने जवान का शव एक बाग में पड़ा देखा और इसकी जानकारी पुलिस को दी. घटना की सूचना पाकर मौके पर पहुंची पुलिस ने जांच में जवान की शिनाख्‍त की.जानकारी के अनुसार, दक्षिणी कश्‍मीर के शोपियां जिले में रहने वाला सेना का जवान इरफान अहमद पिछले दस दिन से गायब था. शनिवार को कुछ लोगों ने पुलिस को उत्‍तरी कश्‍मीर के किगाम के वथमुला नाद इलाके के एक बाग में पड़े होने की सूचना दी.पुलिस ने जांच में शव की शिनाख्‍त इरफान अहमद के रूप में की. इरफान की गोली मारकर हत्‍या की गई थी. अहमद 22 जुलाई 2015 से टेरिटोरियल आर्मी में शामिल हुआ था. वह 10 नवंबर से 26 नवंबर तक 17 दिन की छुट्टी पर आया हुआ था. 

इरफान की मौत पर सीएम महबूबा ने ट्विटर पर लिखा, ' शोपियां में टेरिटॉरियल आर्मी के एक बहादुर जवान की भयावह हत्या की कड़ी निंदा करती हूं. इस तरह की नृशंस गतिविधि घाटी में शांति स्थापित करने के हमारे संकल्प को कमजोर नहीं करेगा.'  वहीं जम्मू-कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री उमर अब्दुल्ला ने भी इस जवान की हत्या की निंदा की. उन्होंने ट्वीट किया, ' युवा इरफान डार की हत्या काफी दुखद और निन्दनीय है. परिवार के प्रति मेरी दिली संवेदना.' 
 
सेना की ओर से जारी बयान में कहा गया कि सिपाही इरफान अहमद डार टेरिटोरियल आर्मी की बांदीपुरा यूनिट में तैनात था. आतंकियों द्वारा अपहरण के बाद हत्‍या करने की आशंका है. पुलिस मामले की जांच कर रही है.

4:43 pm | Posted in , , | Read More »

गुजरात: चुनाव से पहले सास-बहू की सियासत में उलझी BJP

गुजरात विधानसभा चुनाव को लेकर बीजेपी ने शुक्रवार को उम्मीदवारों की पांचवी लिस्ट जारी कर दी. पंचमहाल की कालोल बेठक सीट पर पंचमहाल के सांसद प्रभातसिंह चौहाण की बहू सुमन चौहाण को टिकट मिला था. वह प्रभातसिंह की पहली बीवी के बेटे की पत्नी हैं.खास बात यह है कि सुमन को टिकट मिलने पर प्रभातसिंह की तीसरी पत्नी रंधेश्वरी देवी ने शुक्रवार को फेसबुक पर अपना विरोध जताया. बाद में उसने पोस्ट डिलीट कर दी थी.ईटीवी से बात करते समय रंधेश्वरी देवी ने कहा, 'मुझे अब फेसबुक पोस्ट पर पछतावा है. मैं अपनी बहू के लिए ही प्रचार करूंगी. परिवार में कोई विरोध नहीं है.'हालांकि, इसके बाद प्रभातसिंह ने बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह को एक चिट्ठी लखी है. उन्होंने लिखा है, 'मेरी बहू को टिकट ना दी जाए. यहां से उम्मीदवार बदला जाए.'चिट्ठी में उन्होंने ये भी लिखा है कि उसका बेटा (प्रवीण) एक बुटलेगर है. वह शराब का धंधा करता है. सुमन और प्रवीण जेल भी जा चुके हैं.उन्‍होंने लिखा, 'कालोल और गोधरा विधान सभा की सीट इस हालात में में जीता नहीं पाऊंगा.अगर बीजेपी हारती है तो मेरी जिम्मेदारी नहीं. मेरे बीजेपी में आने के बाद नगर निगम से लेकर लोकसभा तक बीजेपी जीती है. पार्टी में सीनियर होने के बावजूद मुझे संगठन या किसी और जगह पर स्थान नहीं दिया.'

4:38 pm | Posted in , , , | Read More »

ट्रैफिक नियमों की अनदेखी करने वालों को पुलिस दिखाएगी फिल्म

अगर आप सड़क पर वाहन चलाते हैं और नियम का अनुपालन नहीं करते हैं तो सावधान हो जाइए. सड़क दुर्घटना पर अंकुश और यातायात नियम का अनुपालन करने के लिए देवघर पुलिस ने एक अच्छी पहल की शुरुआत की है.अब नियमों का उल्लंधन करने वाले वाहन चालकों से पुलिस जुर्माना तो वसूलेगी ही, लेकिन इससे पहले उन्हे सड़क सुरक्षा और यातायात नियम पर बनी शॉर्ट फिल्म भी दिखाएग. नियम को दरकिनार कर सड़क पर वाहन चलाने वाले आए दिन दुर्घटना का शिकार होकर अपनी जान गवां देते हैं.प्रशासन की लाख कोशिशों के बाद भी लोग इस ओर गंभीर दिखाई नहीं देते. ऐसे में देवधर पुलिस ने एक अच्छी पहल शुरू की है. अब बिना हेलमेट या यातायात नियम का पालन नहीं करने वाले वाहन चालकों को जुर्माना के अलावा दो घंटे की शॉर्ट फिल्म भी दिखाई जायेगी सड़क दुर्घटना और यातायात नियमों पर आधारित होगी. इस फिल्म को दिखाने के बाद ही पुलिस लोगों से जुर्माना वसूलेगी. दरअसल पुलिस ने आम लोगों को सड़क दुर्घटना से बचाने के लिए जागरुक कर रही है. पुलिस अधीक्षक ने इस पहल से सकारात्मक परिणाम की उम्मीद जताई है.देवघर एसपी सुजाता कुमारी ने बताया कि कलेक्टरेट परिसर के पुलिस कंट्रोल रूम में इसके लिए एक कमरा बनाया गया है जिसे सड़क सुरक्षा काउंसेलिंग रूम नाम दिया गया है. इस कमरे में टीवी के जरिए यातायात नियमों का उल्लंघन करने वाले वाहन चालकों को दो घंटे की फिल्म दिखाई जाएगी. पुलिस की इस पहल की आम लोगों ने सराहना की है.

4:09 pm | Posted in , , , | Read More »

मेरठ कमिश्नर ने निरीक्षण के उपरांत पोलिंग पार्टीयों को किया रवाना

सोनू शर्मा संवाददाता, गौतमबुद्दनगर जिले मे आज मेरठ मंडल के कमिश्नर डॉ प्रभात कुमार फूल मंडी में स्थलीय निरीक्षण करते हुए। ज्ञातव्य हो कि आज फूल मंडी से नगर निकाय सामान्य निर्वाचन के रविवार को होने वाले मतदान को संपन्न कराने के उद्देश्य से पोलिंग पोलिंपार्टियां रवाना हो रही हैं। इस अवसर पर मंडलायुक्त ने जिला प्रशासन की ओर से की जा रही सभी व्यवस्था का जायजा लिया। और मतदान कार्मिकों से भी वार्तालाप किया। साथ ही सभी मतदान कार्मिकों को अपने-अपने बूथ पर निष्पक्ष स्वतंत्र एवं निर्बाध रुप से मतदान संपन्न कराने के निर्देश भी दिए। इस अवसर पर जिलाधिकारी ब्रजेश नारायण सिंह, चुनाव प्रेक्षक मोहम्मद जुबेर अली हाशमी, वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक लव कुमार, अपर जिलाधिकारी प्रशासन कुमार विनीत, मुख्य विकास अधिकारी अनिल कुमार सिंह, जिला पूर्ति अधिकारी राज नारायण यादव तथा अन्य अधिकारी मौजूद रहे।

3:08 pm | Posted in , | Read More »

यातायात नियमों के प्रति जागरूक करने के उद्देश्य से निकाली साइकिल रैली

सोनू शर्मा संवाददाता, गौतमबुद्दनगर जिले मे उत्तर प्रदेश शासन के निर्देशानुसार जन सामान्य को यातायात नियमों के प्रति जागरूक करने के उद्देश्य से नवम्बर माह को यातायात माह के रूप में मनाया जा रहा है।इसी क्रम में आज प्रातः 7 बजे गार्डन गैलेरिया , जी आई पी मॉल से यातायात पुलिस गौतमबुद्धनगर द्वारा एक साईकिल रैली का  आयोजन किया गया। रैली में वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक, पुलिस अधीक्षक नगर, पुलिस अधीक्षक यातायात, पुलिस उपाधीक्षक यातायात व यातायात पुलिस/नागरिक पुलिस कर्मियों द्वारा भाग लिया गया। और 16 किलोमीटर साईकिल चलाकर जन सामान्य को यातायात नियमों के प्रति जागरूक किया गया।रैली में लगभग 200 साइकिलिस्ट व जन सामान्य ने भी भाग लिया। रैली के समापन पर उपस्थित सभी लोगों को यातायात नियमों के प्रति संवेदनशील करते हुए पालन करने का निर्देश दिया गया। सभी भाग लेने वाले व्यक्तियों को मेडल व रिफ्रेशमेंट भी प्रदान किया गया।

3:04 pm | Posted in , | Read More »

कश्मीर की आज़ादी के लिए लड़ता रहूंगा: हाफ़िज़ सईद

आतंकी संगठन लश्कर-ए-तैयबा के संस्थापक हाफ़िज़ सईद ने रिहाई के साथ ही कश्मीर मुद्दे पर कहा कि हमने अदालत में कहा कि मेरा मसला कश्मीर की आज़ादी का मसला है. हाफिज़ ने आगे कहा कि पकिस्तान में अजीब-ओ-गरीब हुकूमत है , सारी दुनिया जानती है कि पाकिस्तानी नेता और पार्टियां क्या करती है, ये अपनी तिजोरियां भरते है.

1:59 pm | Posted in , , , , | Read More »

प्रद्युम्न मर्डर के आरोपी अशोक का हरियाणा पुलिस पर आरोप

रद्युम्न हत्याकांड में हरियाणा पुलिस ने सबसे पहले रायन स्कूल के बस कंडक्टर अशोक को गिरफ्तार किया था. लेकिन सीबीआई को अशोक के खिलाफ कोई सबूत नहीं मिले. जिसके बाद कोर्ट ने अशोक को जमानत दे दी. अशोक ने जमानत पर रिहा होने के बाद हरियाणा पुलिस पर कई गंभीर आरोप लगाए हैं.

1:51 pm | Posted in , , , | Read More »

नाइजीरियन को अगवा कर मांगी 25 लाख की फिरौती, गिरफ्तार

दिल्‍ली के मंडावली इलाके में नाइजीरियन मूल के एक शख्‍स को अगवा कर लिया गया. अगवा करने वाले लोगों ने जब उसके परिजनों से 25 लाख रुपये की फिरौती की मांग की तो उन्‍होंने पुलिस को सूचना दे दी.इसके बाद करीब 3 घंटे की मशक्‍कत करने पर दिल्‍ली पुलिस को सफलता हाथ लगी. पुलिस ने इस मामले में 3 लोगों को गिरफ्तार किया है. वहीं नाइजीरियन को सकुशल वापस लाया गया है. पुलिस का कहना है कि नाइज‍ीरियन ने इस घटना में संदिग्‍ध लोगों के होने की बात कही है.बता दें कि मंडावली से अपहरण करने के बाद तीनों आरोपी लगातार फोन पर फिरौती मांग रहे थे. उन्‍होंने 25 लाख रुपये की मांग की थी. वहीं पुलिस तक सूचना न पहुंचाने की धमकी भी दी थी. लेकिन नाइजीरियन के घरवालों ने पुलिस की मदद ली और तीनों आरोपी गिरफ्त में आ गए. वहीं नाइजीरियन मूल के शख्‍स को बचाया जा सका.फिलहाल पुलिस पूरे मामले की जांच कर  रही है. वहीं यह तलाश करने की कोशिश्‍ा भी कर रही है कि इस घटना के पीछे कोई बड़ी साजिश या मास्‍टरमाइंड तो नहीं छुपे हैं जो आए दिन अगवा करने की वारदातों को अंजाम देते हैं.

1:46 pm | Posted in , , , | Read More »

सर्वाधिक पढ़ी गयी

Recently Added

Recently Commented